मनमोहन देसाई ने बिग बी को बनाया महानायक, कई हिट फिल्मों के बावजूद नहीं मिला कभी फिल्मफेयर 

डिजाइन फोटो  - Sakshi Samachar

बॉलीवुड में जब भी बेहतरीन व सुपरहिट कमर्शियल फिल्मों के नाम गिनाए जाते हैं तो उनमें से ज्यादातर फिल्में दिग्गज निर्देशक मनमोहन देसाई की ही होती हैं। मनमोहन देसाई ने न सिर्फ शानदार फिल्मों को पर्दे पर उतारा बल्कि उन्हें बेहतरीन तरीके से पेश भी किया।

बॉलीवुड में 'मनजी' के नाम से मशहूर मनमोहन देसाई को एंटरटेनर नंबर-1 भी कहा जाता था। देसाई का जन्म 26 फरवरी 1937 को मुंबई में हुआ था। 1 मार्च 1994 को मनमोहन देसाई ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया था। बताया जाता है कि उनकी मौत बालकोनी से गिरने से हुई थी लेकिन आज भी उनकी मौत को लेकर रहस्य बना हुआ है।

मनमोहन देसाई के पिता किक्कू देसाई फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े थे और उन्होंने वर्ष 1930 में एक फिल्म का निर्देशन भी किया था। वह पारामाउंट स्टूडियो के मालिक भी थे। घर में फिल्मी माहौल रहने के कारण उनका रुझान बचपन से ही फिल्मों की ओर हो गया था। साल 1960 में जब मनमोहन 24 साल के थे तो उन्हें अपने भाई सुभाष देसाई द्वारा बनाई जा रही फिल्म 'छलिया' को डायरेक्ट करने का मौका मिला था।

सुपरहिट फिल्मों के शानदार निर्देशक मनमोहन देसाई 

इस फिल्म में मनमोहन देसाई ने बॉलीवुड के शोमैन यानी राजकपूर और खूबसूरत नूतन को निर्देशित किया था। पहली ही फिल्म में इतने बड़े कलाकारों को निर्देशित करने का मौका मिलना कोई कम बड़ी बात नहीं थी।

इस फिल्म में संगीत कल्याणजी-आनंदजी ने दिया था। छलिया मेरा नाम और डम डम डिगा डिगा जैसे उन दिनों काफी लोकप्रिय हुए थे, वहीं आज भी इन सदाबहार गानों को सुना जाता है।

वैसे तो मनमोहन देसाई ने इस दुनिया को कई साल पहले ही अलविदा कह दिया है पर इतने साल बाद भी अपनी फिल्मों के द्वारा अपने प्रशंसकों के बीच वे प्रासंगिक बने हुए हैं। हिंदी सिने प्रेमी आज भी उनकी फिल्मों को बड़े चाव से देखते हैं।

बिग बी को बनाया महानायक

मनमोहन देसाई ने अपनी बेहतरीन फिल्मों से सदी के महानायक अमिताभ बच्चन को महानायक बनाया। जी हां, अमिताभ बच्‍चन खुद कई मौकों पर यह कह चुके हैं कि उनके सिनेमाई करियर में मनमोहन देसाई का अद्भुत योगदान रहा।

बिग बी को बनाया महानायक 

मनजी ने अमिताभ बच्‍चन को एक नायक के रूप में कई यादगार फिल्‍में दी जिसमें 'परवरिश', 'अमर अकबर एंथनी', 'कुली', 'सुहाग', 'मर्द', 'नसीब', 'तूफ़ान' और 'गंगा जमुना सरस्वती' जैसी चर्चित फिल्‍में शामिल हैं। इन फिल्‍मों में अमिताभ बच्‍चन के किरदारों को खूब सराहा गया। अमिताभ बच्‍चन को सदी का महानायक बनाने में इन फिल्‍मों का विशेष योगदान है।

अभिनेत्री नंदा से करते थे मोहब्बत पर ....

मनमोहन देसाई अभिनेत्री नंदा से बेइंतहा मोहब्‍बत करके थे, नंदा को भी उनसे प्‍यार था। शर्मीले स्‍वभाव के कारण देसाई अपने प्‍यार का इजहार न कर सके। कुछ समय बाद उन्‍होंने जीवनप्रभा से शादी कर ली लेकिन साल 1979 में जीवनप्रभा की मौत हो गई। पत्‍नी के निधन के बाद देसाई अकेले हो गये।

अभिनेत्री नंदा से करते थे प्यार 

नंदा भी अकेली थी। उन्‍होंने नंदा से अपने प्‍यार का इजहार किया, नंदा ने हामी भर दी। 1992 में जब देसाई 55 साल के थे और नंदा 53 की थीं, दोनों ने सगाई कर ली लेकिन होनी को शायद कुछ और ही मंजूर था। सगाई के दो साल बाद ही उनकी अचानक मौत हो गई।

कई यादगार फिल्में बनाई ...

मनमोहन देसाई उन चुनिंदा निर्देशकों में से एक है जिन्‍होंने राज कपूर, शम्‍मीकपूर और शशि कपूर तीनों के साथ-साथ अलग फिल्‍में की। राज कपूर के साथ उन्‍होंने 'छलिया', शम्‍मी कपूर के साथ उन्‍होंने 'राजकुमार', 'बदतमीज' और 'ब्‍लफमास्‍टर' जैसी फिल्‍में दी और शशि कपूर के साथ 'आ गले लग जा' जैसी कामयाब फिल्‍म दी। इसके अलावा उन्‍होंने जीतेंद्र, धर्मेंद्र, ऋषि कपूर और शत्रुघ्‍न सिन्‍हा के साथ भी कई यादगार फिल्‍में की।

फिल्म नसीब के सेट पर मनमोहन देसाई के साथ हेमा मालिनी व अमिताभ बच्चन 

इतनी सारी सुपरहिट फिल्में बनाने के बाद भी मनमोहन देसाई एक भी फिल्मफेयर अवॉर्ड नहीं जीत सके। उन्होंने राजेश खन्ना, राज कपूर, शम्मी कपूर और अमिताभ बच्चन जैसे सुपरस्टार्स संग काम किया पर बॉलीवुड ने उन्हें उनके हिस्से का सम्मान या पुरस्कार नहीं दिया, जिसके वे हकदार थे।

मनमोहन देसाई की फिल्म अमर अकबर एंथोनी ने तो बॉक्स ऑफिस पर धमाल हीमचा दिया था। आज भी अगर ये फिल्म टीवी पर आती है तो लोग बड़े चाव से देखते हैं। फिल्म में अमिताभ बच्चन, विनोद खन्ना और ऋषि कपूर लीड रोल में नजर आए थे।

मनमोहन देसाई की सुपरहिट फिल्म थी अमर अकबर एंथोनी 

बॉलीवुड इतहास की ये एकलौती फिल्म थी जिसमें बॉलीवुड के महान सिंगर्स मोहम्मद रफी, किशोर कुमार, मुकेश और लता मंगेशकर ने साथ में गाना गाया था। गाने के बोल थे हमको तुमसे हो गया है प्यार क्या करें।

इसे भी पढ़ें :

बेहतरीन फिल्में बनाते हैं संजय लीला भंसाली, इस वजह से अपने नाम के साथ जोड़ते हैं मां का नाम

कमाल की अदाकारा थी श्रीदेवी, कड़ी मेहनत से हासिल किया था लेडी अमिताभ का खिताब

यहां यह कहना गलत नहीं होगा कि मनमोहन देसाई ने अपने दौर के सभी टॉप कलाकारों के साथ काम किया और उनके द्वारा बनाई गई फिल्‍में भारतीय सिनेमा के लिए एक मिसाल बनी ! एक मार्च 1994 को मनमोहन देसाई के निधन की खबर ने पूरे बॉलीवुड को हिला कर रख दिया था।

Advertisement
Back to Top