फिल्मी कहानी से कम नहीं है जावेद अख्तर व शबाना आजमी की लव स्टोरी, ऐसा है पहली पत्नी से रिश्ता  

जावेद अख्तर का 75 वां जन्मदिन  - Sakshi Samachar

बॉलीवुड में ऐसे भी गीतकार हैं जिनके गाने हमें सहज ही गुनगुनाने को मजबूर कर देते हैं। चाहे व रोमांटिक गाने हों या फिर संजीदा, हर गाने में उनका स्पेशल टच होता है। जी हां, हम बात कर रहे हैं मशहूर गीतकार जावेद अख्तर की जो पहले पटकथा लेखन किया करते थे।

आज यानी 17 जनवरी को जाने-माने लेखक, शायर और गीतकार जावेद अख़्तर अपना 75वां जन्मदिन मना रहे हैं। बता दें कि इनका जन्म 17 जनवरी 1945 को ग्वालियर में हुआ था। इनके पिता जां निसार अख़्तर प्रसिद्ध प्रगतिशील कवि और मां सफिया अख्तर मशहूर उर्दू लेखिका और शिक्षिका थीं।

जावेद अख्तर -पहचाने जाते हैं अपने लेखन के लिए 

फिल्म जगत में जावेद अख़्तर का नाम आज किसी पहचान का मोहताज नहीं है। 70 से 80 के दशक में सलीम के साथ जावेद साहब की जोड़ी काफी मशहूर थी। दोनों ने एक साथ अंदाज, यादों की बारात, जंजीर, दीवार, हाथी मेरे साथी और शोले जैसी फिल्मों की पटकथा लिखी हैं। इन लोगों को बॉलीवुड में सलीम-जावेद के नाम से पहचान मिली थी।

ऐसे हुई थी हनी से शादी

हनी और जावेद राइटर जोड़ी सलीम-जावेद की लिखी फिल्म सीता और गीता के सेट पर मिले थे। दोनों जवान थे, इंडेपेंडेंट थे। शादी के लिए ज़्यादा जोर नहीं लगाना पड़ा। फिल्म की शूटिंग पूरी होने के बाद सब लोग पत्ते खेल रहे थे। गेम में जावेद की हालत पतली थी। हनी ने कहा लाओ तुम्हारे पत्ते मैं निकालती हूं।

जावेद ने जवाब दिया अगर पत्ते अच्छे निकले तो मैं तुमसे शादी कर लूंगा। पत्ते सही निकल गए। जावेद का गेम अब दोनों साइड सेट हो गया। खुद शर्मीले थे तो अपने जोड़ीदार सलीम ख़ान को हनी की मां से शादी की बात करने भेज दिया। सलीम ने जाकर लड़के का जो बखान किया वो आपने शोले में कई बार देखा होगा।

पहली पत्नी हनी व बच्चों के साथ जावेद अख्तर। फिर हुआ शबाना से प्यार 

शादी की इजाजत मिल गई और फिर दोनों की शादी भी हो गई। सबसे दिलचस्प बात यह है कि हनी ईरानी का भी जन्मदिन 17 जनवरी को ही आता है। साल 1972 में दोनों ने शादी की थी।

जावेद उस वक्त फक्कड़ आदमी थे। न रहने का ठिकाना था न खाने का। जैसे-तैसे रहने का जुगाड़ हो गया। कुछ दिनों में जावेद की फिल्म रिलीज़ हुई जंज़ीर इसके बाद मामला सुधरने लगा। फिर बच्चे भी हो गए। कुछ और फिल्में आईं और सलीम-जावेद की जोड़ी फिल्म के पोस्टरों पर दिखने लगी।

यूं शुरू हुई शबाना के साथ लव स्टोरी

हुआ यूं कि जावेद लिखते थे और अपनी कविताएं सुनाने मशहूर शायर कैफ़ी आज़मी के घर जाया करते थे। कैफ़ी की एक बेटी थीं। अलग तरह की फिल्में और किरदार करने के लिए जानी जाती थी। नाम था शबाना।

शबाना आजमी से पहली दफ़ा जावेद उनके घर पर ही मिले। एक ही जैसे घरेलू माहौल में पले-बढ़े होने के कारण एक कंफर्ट लेवल तो था लेकिन पहले थोड़ी अचकचाहट थी क्योंकि जावेद का रिलेशनशिप स्टेटस मैरिड था। टाइम के साथ चीज़ें काफी बदलने लगी थीं पर आगे नहीं बढ़ पा रही थीं।

ऐसे में जावेद ने पहला कदमा बढ़ाया। एक पार्टी में जहां शबाना भी थीं, जावेद ने शबाना की फिल्म स्पर्श का ज़िक्र छेड़ दिया और उनके परफॉरमेंस की तारीफ करने लगे। यहां से इनकी लव स्टोरी शुरू हो गई।

जावेद अख्तर व शबाना आजमी की लव स्टोरी 

इस प्रेम कहानी ने शादी के 7 साल बाद हनी और जावेद को अलग कर दिया लेकिन तलाक होने तक साल 1984 आ गया। हनी से तलाक लेने के बाद जावेद ने शबाना से 9 दिसंबर 1984 को शादी कर ली। उनके बच्चे अपनी मां के साथ रहते थे। किसी मेडिकल प्रॉब्लम की वजह से जावेद-शबाना ने कोई बच्चा नहीं पैदा किया। शबाना और जावेद के बच्चों के बीच अच्छी बॉन्डिंग है लेकिन दोनों पत्नियों के बीच भी सामान्य रिश्ते हैं।

तलाक के बाद ऐसा है पहली पत्नी से रिश्ता

जावेद अख्तर और हनी ईरानी का रिश्ता तलाक के बाद भी दोस्ताना ही रहा है। इनके दो बच्चे हैं फरहान और जोया अख्तर। तलाक के बाद जावेद साहब बच्चों से मिलने घर आते थे और हनी ने कभी भी बच्चों को उनके पिता के करीब जाने से रोका नहीं। यही वजह है कि आज दोनों के बीच का रिश्ता काफी मजबूत हो चुका हैं।

पत्नी शबाना आजमी, बेटे फरहान व बेटी जोया के साथ जावेद अख्तर 

इन लोगों के बीच रिश्तों में कभी खटास देखने को नहीं मिली। हनी ईरानी और शबाना आजमी भले ही एक दूसरे की अच्छी दोस्त न हो लेकिन उन्होंने कभी भी एक दूसरे के बारे में आपत्तिजनक टिप्पणी नहीं की।

इसे भी पढ़ें :

आज भी ‘बैंडिट क्वीन’ के लिए जानी जाती है सीमा बिस्वास, किया था शानदार अभिनय

बहुमुखी प्रतिभा के धनी है फरहान अख्तर, अभिनय के साथ निर्देशन में भी हाथ आजमा चुके हैं

जावेद साहब को साल 1999 को पद्म भूषण और 2007 में पद्म भूषण से नवाजा जा चुका है। जावेद साहब आज भी फिल्मों में बेहतरीन गाने लिखते हैं और शायरी में भी उनका कोई जवाब नहीं।

Advertisement
Back to Top