पद्मिनी कोल्हापुरी का नाम आते ही सहज ही आंखों के सामने राज कपूर की फिल्म 'प्रेमरोग' का गाना 'ये गलियां ये चौबारा, यहां आना ना दोबारा' का दृश्य आ जाता है।

पद्मिनी फिल्मों में बेहतरीन अभिनय किया करती थी वहीं उन्हें कभी किसी सीन से कोई परेशानी नहीं होती थी। तभी तो उन्होंने 15 साल की छोटी उम्र में ही रेप सीन के साथ ही एडल्ट फिल्मों में भी काम किया और फेमस भी हो गई।

पद्मिनी कोल्हापुरी का जन्म 1 नवंबर 1965 को गीतकार पंढरीनाथ कोल्हापुरी के यहां हुआ। पद्मिनी की बड़ी बहन तेजस्विनी और छोटी बहन शिवांगी हैं। ये शुरु से एक्ट्रेस बनना चाहती थीं।

शिवांगी कोल्हापुरे अभिनेता शक्ति कपूर की बीवी हैं। इस रिश्ते से पद्मिनी अभिनेत्री श्रद्धा कपूर की मौसी और शक्ति कपूर की साली लगती हैं।

छोटी सी उम्र में कर दी फिल्मों में एंट्री 
छोटी सी उम्र में कर दी फिल्मों में एंट्री 

पद्मिनी कोल्हापुरी ने बहुत सी फिल्मों में गाने भी गाये। किशोर कुमार के साथ उन्होंने पहली बार यादों की बारात में गाया था। इसके बाद अपनी कई फिल्मों में अपने गाने खुद गाये।

साल 1975 में आई फिल्म इश्क इश्क इश्क से पद्मिनी ने एक्टिंग डेब्यु किया था। इस फिल्म को अभिनेता देव आनंद ने निर्देशित किया था। देव आनंद को पद्मिनी का नाम आशा भोसले ने सजेस्ट किया था।

पद्मिनी कोल्हापुरी 
पद्मिनी कोल्हापुरी 

इसके बाद साल 1978 में आई राज कपूर द्वारा निर्देशित फिल्म सत्यम शिवम सुंदरम में जीनत अमान के बचपन का किरदार भी निभाया था। इस तरह से पद्मिनी का फिल्मी करियर शुरु हुआ।

15 साल की उम्र में इनकी फिल्म आई इंसाफ का तराजू इस फिल्म में जीनत अमान और राज बब्बर भी थे। इस फिल्म ने रिकॉर्ड तोड़ कामयाबी हासिल की क्योंकि फिल्म का एक रेप सीन काफी पॉपुलर हुआ, जो 7-8 मिनट लंबा था।

साल 1982 में राज कपूर द्वारा निर्देशित फिल्म प्रेम रोग में पद्मिनी कोल्हापुरी और ऋषि कपूर की जोड़ी को खूब सराहा गया। फिल्म सुपरहिट हुई और पद्मिनी ने बेस्ट एक्ट्रेस का फिल्मफेयर अवार्ड जीता।

प्रेम रोग में ऋषि कपूर के साथ पद्मिनी 
प्रेम रोग में ऋषि कपूर के साथ पद्मिनी 

पद्मिनी कोल्हापुरी ने अपने किसी भी किरदार को करने से मना नहीं किया और हर तरह की फिल्मों में काम किया इसलिए वे निर्माता-निर्देशक की पहली पसंद बन गयी थीं।

पद्मिनी ने बॉलीवुड में करीब 100 फिल्मों में काम किया जिनमें से सत्यम शिवम सुंदरम, प्रेम रोग, इंसाफ का तराजू, प्यार झुकता नहीं, सौतन, प्यार के काबिल, दाता, वो सात दिन, आहिस्ता-आहिस्ता, स्वर्ग से सुंदर, दर्द का रिश्ता और सुहागन जैसी सुपरहिट फिल्में शामिल है।

फिल्म के एक दृश्य में अनिल कपूर के साथ पद्मिनी कोल्हापुरे 
फिल्म के एक दृश्य में अनिल कपूर के साथ पद्मिनी कोल्हापुरे 

कुछ ऐसी है पद्मिनी की लव स्टोरी

पद्मिनी ने निर्माता-निर्देशक टूटू शर्मा उर्फ प्रदीप शर्मा से शादी की। इन दोनों की लव स्टोरी भी काफी रोचक रही। जी हां, टूटू शर्मा ने अपनी ही फिल्म की अभिनेत्री को भगाकर शादी की।

फिल्म ऐसा प्यार कहां को टूटू शर्मा ने प्रोड्यूस किया था। वह खुद पद्मिनी कोल्हापुरे को फिल्म की कहानी सुनाने गए थे। इस फिल्म में पद्मिनी कोल्हापुरी को जीतेंद्र की बहन का किरदार निभाना था। इसी दौरान यह दोनों एक-दूसरे से प्यार करने लगे। फिल्म की शूटिंग के दौरान टूटू शर्मा पद्मिनी कोल्हापुरे को गुलाब के फूल भेजते थे।

पति टूटू शर्मा के साथ पद्मिनी कोल्हापुरी 
पति टूटू शर्मा के साथ पद्मिनी कोल्हापुरी 

हालांकि पद्मिनी कोल्हापुरी के परिवार वालों को यह रिश्ता मंजूर नहीं था। टूटू शर्मा और पद्मिनी कोल्हापुरे ने भागकर शादी रचाई। यह दोनों जब शादी के बाद जयपुर से मुंबई जा रहे थे तो फ्लाइट में मौजूद यात्रियों ने तालियां बजाकर दोनों का स्वागत किया था।

इसे भी पढ़ें :

काम पाने के लिए हेमा मालिनी को भी करना पड़ा संघर्ष, ऐसे मिली थी राजकपूर की फिल्म

बहुमुखी प्रतिभा के धनी थे कादर खान, अभिनय के साथ ही संवाद लेखन का भी किया था काम

यह दोनों मुंबई जाने के बाद लंदन चले गए और वहां हनीमून मनाया। हनीमून मनाने के बाद जब टूटू शर्मा और पद्मिनी कोल्हापुरे मुंबई वापस आए तो जीतेंद्र ने इन दोनों के लिए अपने घर पर एक पार्टी का आयोजन किया था।

तो ऐसी थी पद्मिनी की रोचक लव स्टोरी। पद्मिनी के बेटे का नाम प्रियांक है। वहीं पद्मिनी की भांजी यानी श्रद्धा कपूर अपनी मौसी के काफी करीब है और उनसे अभिनय के गुर सीखती रहती है।