बिग बॉस ने कंटेस्टेंट के घरवालों को सामने लाकर जहां कुछ को खुश कर दिया वहीं कई कंटेस्टेंट को दुखी भी किया। इतना ही नहीं बिग बॉस ने तो कंटेस्टेंट के रिश्तेदारों को भी आपस में लड़ा दिया।

दूसरी ओर अपने रिश्तेदारों से न मिल सकने पर श्रीमुखी और शिवज्योति काफी दुखी हुई और इन दोनों के आंसू तो रोके नहीं रुक रहे थे। आपको पता ही होगा कि बिग बॉस ने रिश्तेदारों को भी एक टास्क दिया था और कहा कि जो इस टास्क में जीतेंगे वही अपने रिश्तेदार यानी कंटेस्टेंट से मिल सकेंगे।

वितिका से मिलने आए राजु, रवि से मिलने आए उनके मामा, पुनर्नवी से मिलने आया उसका छोटा भाई, हिमजा से मिलने आई रोजा, शिवज्योति के भाई धनराज को ही बिग बॉस ने आई मार्क दिया।

बाकी सारे लोगों को जोकर की फोटो मिली जिसकी वजह से वे घर के अंदर आकर अपने कंटेस्टेंट से मिल नहीं पाए। बिग बॉस ने कहा कि वे लोग वहीं से उन्हें शुभकामनाएं दे सकते हैं।

श्रीमुखी के भाई सुश्रुत उनसे मिलने आए पर टास्क में न जीत पाने पर श्रीमुखी को काफी दुख हुआ और वह रोने लगी। श्रीमुखी ने साफ कहा कि उसे बिग बॉस का यह तरीका पसंद नहीं आया।

श्रीमुखी ने साफ कहा कि या तो सबको मिलने का मौका देना चाहिए या फिर किसीको नहीं देना चाहिए। यह तरीका बिलकुल ठीक नहीं है।

इसे भी पढ़ें :

बाबा भास्कर को हराकर कैप्टन बने महेश, देखें क्या कुछ करते हैं

बिग बॉस ने सारे कंटेस्टेंट्स को रुलाया, जानें वजह

यह सब होने के बाद बिग बॉस ने कंटेस्टेंट को एक नया टास्क दिया। जिसके अंतर्गत पुरुषों और महिलाओं की दो टीम बनाई गई। कहा गया कि बिना किसी कारण के पुरुषों को रोकर दिखाना है।

पुरुषों की टीम इसमें सफलता हासिल नहीं कर पाई। महिलाओं को कहा गया कि वे लोग दस मिनट में तैयार होकर दिखाए। इस टास्क में महिलाओं ने विजय हासिल कर ली।

जहां पुरुष बेडरूम को साफ करने के टास्क में जीत गए वहीं महिलाएं जनरल नॉलेज के टास्क में जीत गई। वहीं बिग बॉस के घर में नौवां सप्ताह भी पूरा होने को है।

अब वीकेंड में देखना यह है कि इस बार बिग बॉस के घर से कौन बाहर होता है। राहुल, महेश और हिमजा नॉमिनेट हो चुके हैं। अब देखना यह है कि इनमें से कौन इस सप्ताह बाहर जाता है।