मशहूर निर्माता-निर्देशक महेश भट्ट का आज जन्मदिन हैं। उनका जन्म 20 सितंबर 1949 को मुंबई में हुआ। उनके पिता नानाभाई भट्ट फिल्म इंडस्ट्री के जाने-माने फिल्मकार थे।

घर में फिल्मी माहौल रहने के कारण उनका रूझान भी फिल्मों की ओर हो गया और वह निर्देशक बनने का सपना देखने लगे।

- महेश भट्ट के मां-बाप की कभी शादी ही नहीं हुई थी। इसका असर उनकी जिंदगी पर भी हुआ। शायद यही वजह रही है कि उन्होंने अपनी निजी जिंदगी में भी कभी शादी को ज्यादा अहमियत नहीं दी।

महेश भट्ट 
महेश भट्ट 

पढ़ाई पूरी करने के बाद वह निर्माता-निर्देशक राज खोसला के सहायक के तौर पर काम करने लगे। बॉलीवुड में महेश भट्ट को एक ऐसे फिल्मकार के रूप में शुमार किया जाता है जिन्होंने अर्थपूर्ण और सामाजिक फिल्में बनाकर दर्शकों को अपना दीवाना बनाया है। भट्ट ने अपने सिने करियर की शुरूआत वर्ष 197० में एक डाक्यूमेंट्री फिल्म 'सकट' से की।

- 20 साल के महेश भट्ट कॉलेज में पढ़ते थे जब उनका अफेयर शुरू हुआ लोरिएन ब्राइट से। ब्राइट का नाम बाद में किरन भट्ट हो गया। किरन ही पूजा भट्ट और राहुल भट्ट की मां हैं, लेकिन जब 1970 के दशक में महेश भट्ट का अफेयर परवीन बॉबी से हुआ, तब उनकी पहली शादी में दरार आई।

पहली पत्नी किरन के साथ महेश भट्ट 
पहली पत्नी किरन के साथ महेश भट्ट 

- साल 1982 में महेश भट्ट ने फिल्म 'अर्थ' का निर्देशन किया। फिल्म में स्मिता पाटिल, शबाना आजमी और कुलभूषण खरबंदा ने मुख्य भूमिका निभाई थी। माना जाता है कि इस फिल्म के जरिये महेश भट्ट ने अभिनेत्री परवीन बॉबी के साथ अपने रिश्ते को दर्शाया था।

- महेश ने 1986 में सोनी राजदान के साथ शादी कर ली थी। इस शादी से उन्हें दो बेटी आलिया भट्ट और शाहीन भट्ट है।

- महेश भट्ट अपनी बड़ी बेटी पूजा भट्ट के साथ भी कॉन्ट्रोवर्सी में आ चुके हैं। उन्होंने पूजा के साथ एक फोटोशूट करवाया था, जिसमें वो पूजा को किस कर रहे थे। इस फोटो के रिलीज़ होने के बाद खूब बवाल मचा था, क्योंकि एक पिता और जवान बेटी का इस तरह से किस करना लोगों को काफी बोल्ड लगा।

महेश भट्ट बेटी पूजा भट्ट को किस करते हुए
महेश भट्ट बेटी पूजा भट्ट को किस करते हुए

- महेश भट्ट ने अपनी लव लाइफ को बड़े पर्दे पर उतारने की भी कोशिश की है। फिल्म 'आशिकी' में किरन भट्ट के साथ उनके अफेयर पर बेस्ड थी।

- यही नहीं, फिल्म 'वो लम्हें' की स्टोरी भी महेश भट्ट और परवीन बॉबी के अफेयर पर बेस्ड बताई जाती है। महेश भट्ट अपने सिने करियर में तीन बार फिल्म फेयर पुरस्कार से सम्मानित किए गए। अपने तीन दशक लंबे सिने करियर में लगभग 5० फिल्मों का निर्देशन किया है।

-1990 में आई उनकी फ़िल्म 'आशिकी' ने चार फ़िल्मफेयर अवार्ड जीते थे।

-करियर की बात करें तो 26 साल की उम्र में भट्ट ने निर्देशक के तौर पर फ़िल्म 'मंजिलें और भी हैं' से अपना डेब्‍यू किया।

दूसरी पत्नी सोनी राजदान के साथ महेश भट्ट 
दूसरी पत्नी सोनी राजदान के साथ महेश भट्ट 

- इसके बाद 1979 में आई 'लहू के दो रंग' जिसमें शबाना आजमी और विनोद खन्‍ना मुख्‍य भूमिका में थे, इसने 1980 के फिल्‍मफेयर अवार्ड्स में दो पुरस्‍क‍ार जीते। साल 1984 में आई उनकी फ़िल्म 'सारांश' को भी लोगों ने काफी पसंद किया और अनुपम खेर के जीवन की भी यह अहम फ़िल्मों में से है।

- फेमस फिल्ममेकर मोहित सूरी रिश्ते में महेश, मुकेश और रॉबिन भट्ट के भांजे हैं। मोहित की मां के गुजर जाने के बाद भट्ट फैमली ने ही मोहित का ध्यान रखा।

बेटी आलिया के साथ महेश भट्ट 
बेटी आलिया के साथ महेश भट्ट 

- इमरान हाशमी भी महेश भट्ट के भतीजे हैं। भट्ट फैमली ने मोहित सूरी और इमरान हाशमी का बचपन से ही ख्याल रखा और इन्हें बॉलीवुड में लॉन्च किया यानी मोहित और इमरान रिश्ते में पूजा, आलिया और राहुल भट्ट के कजन भाई हैं।

-महेश भट्ट की दूसरी बेटी शाहीन भट्ट लाइम लाइट में ज्यादा रहना पसंद नहीं करती लेकिन उन्होंने अपने करियर में फिल्म जहर से लेकर जिस्म-2 तक कई सीन लिखे हैं। इसके अलावा वो राज-3 में बतौर असिस्टेंट डायरेक्टर भी काम कर चुकी हैं।

अपने परिवार के साथ महेश भट्ट 
अपने परिवार के साथ महेश भट्ट 

- महेश भट्ट और मुकेश भट्ट के तीसरे भाई रॉबिन भट्ट फेमस स्क्रिप्ट राइटर हैं लेकिन बहुत कम लोग ये जानते हैं कि रॉबिन ने कई फिल्मों में थोड़ी एक्टिंग भी की है जैसे, हम हैं राही प्यार के, गुमराह, यू मी और हम, दुश्मन, कारतूस, सनडे और गोलमाल‍ रिटर्न्स।

- महेश भट्ट के इकलौते बेटे राहुल भट्ट के साथ उनके कुछ खास अच्छे संबंध नहीं हैं। राहुल का मनना है कि जब उन्हें पिता की सबसे ज्यादा जरूरत थी तब महेश भट्ट उनके साथ नहीं थे।