मंदसौर : एक कार जिसे देखते ही आप बॉलीवुड अभिनेत्री श्रीदेवी की यादों में खोने को मजबूर हो जाएंगे। इस होंडा सिटी कार पर लगीं श्रीदेवी की तरह-तरह की तस्वीरें उन्हें जीवंत कर देतीं है। श्रीदेवी की दीवानगी तीन युवतियों पर कुछ इस तरह से छाई हुई है कि उन्होंने एक कार को ही श्रीदेवीमय कर दिया।

श्रीदेवी की दीवानी तीन युवतियों में से एक का नाता मध्य प्रदेश के मंदसौर जिले से है। नाम है टोनू सोजतिया। वे फोटोग्राफी के फन में माहिर हैं और पुणे में फिल्म जगत के शोध कार्य में लगी हुई हैं।

श्रीदेवी की तस्वीरों वाली कार 
श्रीदेवी की तस्वीरों वाली कार 

वे कहती हैं, "मैंने श्रीदेवी की अनेक फिल्में देखी हैं, हर फिल्म में उनका किरदार प्रभावित करने वाला रहा, मगर उनकी असमय मौत ने मुझे अंदर तक हिला दिया। लिहाजा, उन्होंने अपनी दो सहेलियों- भावना वर्मा और परिधि भाटी के साथ एक समूह बनाया और उसे नाम दिया 'भाटोपा'। उसके बाद पुणे से गोवा कार रैली में हिस्सा लिया।"

टोनू ने आईएएनएस को फोन पर बताया, "इस कार पर श्रीदेवी की वही तस्वीरें और डायलॉग चस्पा किए, जिन्होंने उन्हें सबसे ज्यादा प्रभावित किया। इनमें अलग-अलग भूमिकाओं वाली कुल 25 तस्वीरों को लगाया गया है। उसमें 'मॉम' फिल्म का डायलॉग- 'इस देश में रेप तो कर सकते हैं, मगर रेपिस्ट को थप्पड़ नहीं मार सकते' भी चस्पा है।

श्रीदेवी की तस्वीरों वाली कार 
श्रीदेवी की तस्वीरों वाली कार 

टोनू आगे कहती हैं कि वे अभी फोटोग्राफी और फिल्मों पर काम कर रही हैं। इस दौरान उनके मन पर श्रीदेवी ने गहरी छाप छोड़ी है। उन्होंने कहा, "हर फिल्म में उनका किरदार अलग और प्रभावित करने वाला है। उनका फिल्मी करियर काफी लंबा रहा है, लगता ही नहीं है कि, आज वे हमारे बीच नहीं है।"

टोनू बताती हैं, "जब भी कोई व्यक्ति कार पर लगी तस्वीरों को देखता है तो वह देखता ही रह जाता है। कुछ देर बाद जरूर उसकी प्रतिक्रिया आती है कि 'श्रीदेवी तो अब हमारे बीच नहीं रहीं'।"

फिल्मों में श्रीदेवी के किरदारों की तस्वीरें लगी कार के पास बोनी कपूर 
फिल्मों में श्रीदेवी के किरदारों की तस्वीरें लगी कार के पास बोनी कपूर 

टोनू के पिता सुभाष सोजतिया, जो मध्य प्रदेश सरकार में मंत्री रहे हैं, कहते हैं, "मेरी बेटी महिला सशक्तिकरण के लिए काम करना चाहती है, वह महिलाओं को जागृत करने की दिशा में भी काम कर रही है। श्रीदेवी की तस्वीर वाली कार भी उसने महिलाओं की ताकत दिखाने और दुष्कर्म के खिलाफ आवाज उठाने के लिए तैयार की है। इसमें उसे परिवार और समाज के सभी लोगों का समर्थन मिल रहा है।"