मुंबई : निर्देशक करण जौहर ने भले ही एक टीवी प्रस्तोता और कई पुरस्कार कार्यक्रमों की मेजबानी कर ढेर सारी वाहवाही बटोरी हो, लेकिन बचपन में स्कूल के दिनों में लड़कियों जैसी आवाज के कारण लोग उन्हें चिढ़ाते थे।

करण ने अपनी आवाज दुरूस्त करने के लिए कक्षाओं की मदद भी ली थी। बीती बातों को याद करते हुये जौहर ने रानी मुखर्जी से कहा, ‘‘ जब मैं बच्चा था तब हिचकी के कई पल आए। आज एक चीज जो बदल गयी है वह मेरी आवाज है। बचपन में मेरी आवाज लड़कियों जैसी थी। मेरी आवाज बहुत पतली थी और इसके लिए मुझे बहुत चिढ़ाया जाता था।

ये भी पढ़ें :

सलमान खान ने ‘रेस 3’ का पहला लुक साझा किया

‘मोहिनी’ बन छा गईं जैकलिन

निर्देशक ने कहा कि उन्हें एक शिक्षक मिले जिन्होंने उनकी आवाज को लेकर उनमें आत्मविश्वास बढ़ाने में काफी मदद की। रानी अपनी नयी फिल्म‘ हिचकी' में टॉरेट सिंड्रोम से पीड़ित एक शिक्षक की भूमिका में नजर आएंगी। सिद्धार्थ पी मल्होत्राद्वारा निर्देशित और निर्माता मनीष शर्मा द्वारा निर्मित‘ हिचकी' 23 मार्च को सिनेमा घरों में प्रदर्शित होगी।