हैदराबाद : तेलंगाना विधानसभा चुनावों के नतीजे आने से एक दिन पहले कांग्रेस के नेतृत्व वाले गठबंधन महाकूटमी (प्रजा कुटमी) ने सोमवार को राज्यपाल ईएसएल नरसिम्हन से कहा कि अगर किसी दल को स्पष्ट बहुमत नहीं मिलता है तो उन्हें गठबंधन को एकल इकाई के तौर पर देखना चाहिए।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एन उत्तम कुमार रेड्डी ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘उस स्थिति में जहां राज्यपाल को सरकार बनाने के लिये सबसे बड़ी एकल इकाई को आमंत्रित करना पड़े, तो हम कहेंगे कि हमारा चुनाव पूर्व गठबंधन है तथा दस्तावेज ये हैं। हमें एकल इकाई के तौर पर देखा जाना चाहिए।''

यह भी पढ़ें :

केसीआर में है सरकार गठन करने का दम : ओवैसी

तेलंगाना में मतगणना की तैयारियां पूर्ण, एक बजे तक आ जाएंगे पूरे परिणाम

उन्होंने उच्चतम न्यायालय के पूर्व के फैसलों कि चुनाव पूर्व गठबंधन को एकल इकाई के तौर पर देखा जाए का हवाला देते हुए कहा, ‘‘हमने उन्हें (दस्तावेजों को) राज्यपाल को सौंप दिया है।'' रेड्डी के साथ गठबंधन में कांग्रेस की सहयोगी तेदेपा, भाकपा और तेलंगाना जन समिति (टीजेएस) के नेता मौजूद थे।

कांग्रेस ने यह रुख अपनाया है क्योंकि वह चाहती है कि त्रिशंकु विधानसभा की स्थिति में अगर विरोधी तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) को गठबंधन से कम सीटें मिलती हैं तो उसे पहले नहीं बुलाया जाए। रेड्डी ने कहा कि पार्टियों के चुनाव पूर्व गठबंधन और उनके साझा एजेंडे के बारे में चुनाव आयोग के समक्ष दस्तावेज जमा किए गए हैं। रेड्डी ने कहा कि प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल को चुनाव पूर्व गठबंधन की शुचिता और संवैधानिक वैधता के बारे में बताया है।