हिंदू धर्म में मौनी अमावस्या का बड़ा महत्व है। इस दिन कई तरह के पुण्य कार्य किये जाते हैं जिनका अक्षय फल मिलता है। वहीं अगर आप पितृ दोष से पीड़ित हैं तो कुछ खास उपाय इस दिन करके आप इससे मुक्त हो सकते हैं।

इस बार 24 जनवरी, शुक्रवार को मौनी अमावस्या है। वहीं इस दिन शनि भी राशि परिवर्तन कर रहे हैं जिससे यह दिन और भी खास हो जाता है।

चाहते हैं पितृदोष से मुक्ति तो करें ये खास उपाय ...

- मौनी अमावस्या के दिन पितृ दोष से मुक्ति पाने के लिए आपको एक लोटे में जल लाल पुष्प, गुड़ और काले तिल डालकर पितरों का ध्यान करते हुए सूर्य को जल अर्पित करना चाहिए और पितरों से प्रार्थना करनी चाहिए कि आपको पितृ दोष से मुक्ति मिल जाए।

- इस दिन आपको मौन व्रत अवश्य करना चाहिए और आपको खीर और अन्य पकवान भी अवश्य बनाने चाहिए और सबसे पहला भोजन गाय को दूसरा कुत्ते को और तीसरा भोजन कौए को अवश्य देना चाहिए। ऐसा करने से आपको पितरों का आशीर्वाद प्राप्त होगा।

सोशल मीडिया के सौजन्य से 
सोशल मीडिया के सौजन्य से 

- मौनी अमावस्या के दिन पीपल के वृक्ष के नीचे घी का दीपक अवश्य जलाएं। ऐसा करने से आपको पितृ दोष से मुक्ति मिल जाएगी क्योंकि पीपल में भगवान विष्णु का वास माना जाता है।

- इस दिन पीपल के वृक्ष के नीचे कुश के आसन पर बैठकर ऊं ऐं पितृदोष शमनं हीं ऊं स्वधा मंत्र का 1, 3 या 5 माला जाप करें। यदि आप ऐसा करते हैं तो भी आपको पितृ दोष से मुक्ति मिल जाएगी।

- मौनी अमावस्या के दिन एक लोटे में कच्चा दूध भरकर उसमें काले तिल डालकर वट वृक्ष पर अवश्य चढाएं। ऐसा करने से आपको पितरों का आर्शीवाद प्राप्त होगा क्योंकि वट के वृक्ष में पितरों का वास माना जाता है।

सोशल मीडिया के सौजन्य से 
सोशल मीडिया के सौजन्य से 

- इस दिन पितर दोष से मुक्ति पाने के लिए दो जनेऊ लें और एक जनेऊ को अपने पितरों के नाम पर और दूसरे जनेऊ को भगवान विष्णु का नाम लेते हुए अर्पित कर दें। इसके बाद पीपल के वृक्ष की 108 बार परिक्रमा करें। इसके बाद कोई भी सफेद रंग की मिठाई पीपल के वृक्ष को अर्पित कर दें। इस उपाय से आपको अवश्य ही लाभ प्राप्त होगा।

सोशल मीडिया के सौजन्य से 
सोशल मीडिया के सौजन्य से 

- मौनी अमावस्या के दिन आपको किसी पवित्र नदी में काले तिल डालकर पितरों का तर्पण अवश्य करना चाहिए। ऐसा करने से भी आपके पितृ दोष में कमी आएगी।

- इस दिन आपको एक ब्राह्मण को भोजन अवश्य कराना चाहिए। इसलिए किसी ब्राह्मण को आदर के सहित भोजन का निमंत्रण दें और उसे भोजन कराने के बाद उसे वस्त्र और अपने सामर्थ्य के अनुसार दक्षिणा अवश्य दें। ऐसा करने से पितृ दोष में कमी अवश्य ही आएगी।

इसे भी पढ़ें :

मौनी अमावस्या 2020: पाना चाहते हैं कालसर्प दोष से मुक्ति तो इस दिन करें ये खास उपाय

शनि का राशि परिवर्तन: जानें किस राशि की साढ़ेसाती होगी खत्म और किसकी शुरू, करें ये खास उपाय

- मौनी अमावस्या के दिन किसी निर्धन व्यक्ति या ब्राह्मण को सात प्रकार के अनाज और तिल से बनी चीजों का दान अवश्य करें। ऐसा करने से भी आपको पितृ दोष से मुक्ति मिल जाएगी।