मकर संक्रांति का त्योहार आ गया है और हर तरफ इसकी धूम साफतौर पर देखी जा सकती है। मकर संक्रांति पर जहां सूर्य पूजा का विशेष महत्व है वहीं इस दिन स्नान-दान की भी महत्ता है। मकर संक्रांति पर कई खास चीजों का दान किया जाता है और अगर इसकी तैयारी पहले से कर ली जाए तो आसानी होगी।

जैसे हम हर पूजा की सामग्री पहले से एकत्रित कर लेते हैं वैसे ही हमें मकर संक्रांति की पूजा की थाली व दान की तैयारी पहले से करने पर उस दिन सब कुछ आसान हो जाता है और हम कुछ भूलते भी नहीं है।

सोशल मीडिया के सौजन्य से 
सोशल मीडिया के सौजन्य से 

इस बार मकर संक्रांति 15 जनवरी, बुधवार को मनाई जा रही है। तो आप आज ही पूजा व दान की थाली तैयार कर लें। जिससे आप संक्रांति की पूजा में कुछ भूलेंगे नहीं।

आइये यहां जानते हैं पूजा की थाली कैसे तैयार की जाए और इसमें क्या-कुछ खास रखा जाए ...

-मकर संक्रांति पर दान की थाली सजाने से पहले स्टील या तांबे की थाली लें और दान की सामग्री इसमें रखकर सजा लें। जिसे भी दान दें उसे ये थाली भी दे दें।

सोशल मीडिया के सौजन्य से 
सोशल मीडिया के सौजन्य से 

- हम जानते ही हैं कि मकर संक्रांति पर खिचड़ी का दान विशेष रूप से किया जाता है। तो थाली में आप एक कटोरी में चावल और दूसरी कटोरी में मूंग की दाल रखें। आप चाहें तो अरहर की दाल भी इसमें रख सकते हैं।

- इसके बाद उस थाली में दो आलू रखें आप चाहें तो इसकी जगह कोई और सब्जी भी रख सकते हैं।

- थाली में सब्जी रखने के बाद उस थाली में दही और चूड़ा भी रखें जिसे पोहा भी कहा जाता है क्योंकि यूपी और बिहार में मकर संक्रांति के दिन दही और चूड़ा भी दान किया जाता है।

सोशल मीडिया के सौजन्य से 
सोशल मीडिया के सौजन्य से 

- यह सब चीजें रखने के बाद उस थाली में गुड़ और तिल अवश्य रखें। आप चाहें तो गुड़ और तिल से बनी मिठाईयां भी दान के लिए रख सकते हैं।

- इसके साथ ही आप दान के लिए थाली में मूंगफली, रेवड़ी और गजक आदि भी रखें तो ज्यादा उत्तम होगा।

- इस दिन ऊनी वस्त्र दान करना भी काफी शुभ माना जाता है। इसलिए मकर संक्रांति से एक दिन पहले अपने सामर्थ्य के अनुसार एक ऊनी वस्त्र दान के लिए अवश्य लाएं।

- इसके बाद थाली में अपने सामर्थ्य के अनुसार दक्षिणा भी अवश्य रखें क्योंकि बिना दक्षिणा के कोई भी दान पूरा नहीं होता।

सोशल मीडिया के सौजन्य से 
सोशल मीडिया के सौजन्य से 

- दान की पूरी थाली तैयार करने के बाद दान का संकल्प लें और सूर्यदेव की पूजा और उनका ध्यान अवश्य करें।

- इसके बाद इस थाली को आप किसी जरूरतमंद व्यक्ति या किसी ब्राह्मण को दान में दे दें। आप चाहें तो इस थाली को मंदिर में भी दान दे सकते हैं।

इसे भी पढ़ें :

मकर संक्रांति 2020: इस दिन भूलकर भी न करें ये गलतियां वरना पड़ेगा पछताना

विशेष योग में मनेगी मकर संक्रांति, राशियों पर पड़ेगा इसका शुभ-अशुभ असर

मकर संक्रांति पर यह थाली अगर आप एक दिन पहले ही तैयार कर लेंगे तो आपको पूजा वाले दिन आसानी होगी।