हैदराबाद : आज भारतीय नौसेना दिवस है। भारतीय नौसेना हर साल 4 दिसंबर को मनाय जाता है। यह दिवस भारत की पाकिस्तान पर जीत के तौर पर मनाया जाता है। आज ही के दिन भारतीय नौसेना ने पाकिस्तान के साथ युद्ध में उन्हें करारी शिकस्त दी थी। पाकिस्तानी सेना ने 3 दिसंबर 1971 को भारतीय हवाई क्षेत्रों पर हमला किया था। जिसके बाद भारत-पाकिस्तान के बीच 1971 की लड़ाई की शुरुआत हुए थी। भारतीय नौसेना ने पाकिस्तान को जवाब देने के लिए ऑपरेशन ट्राइडेंट चलाया था। वर्तमान में भारतीय नौसेना विश्व की पांचवीं सबसे बड़ी नौसना है।

भारतीय नौसेना का इतिहास

भारतीय नौसेना भारतीय सेना का सामुद्रीक अंग है जिसकी स्थापना 1612 में की गई थी। ईस्ट इंडिया कंपनी ने अपने जहाजों की सुरक्षा के लिए ईस्ट इंडिया कंपनी मरीन के रूप में सेना गठित की थी। बाद में जिसका नाम बदलकर रॉयल इंडियन नौसेना कर दिया गया। ब्रिटिश सरकार से आजादी के बाद 1950 में एक बार फिर से इसका नाम बदलकर इसे भारतीय नौसेना नाम दिया गया।

नौसेना दिवस मनाने की शुरुआत

भारतीय नौसेना ने आज ही के दिन यानी 4 दिसंबर 1971 को पाकिस्तान के खिलाफ ऑपरेशन ट्राइडेंट की शुरुआत की थी। भारतीय नौसेना ने पाकिस्तान के कराची नौसेनिक अड्डे पर हमला बोल कर उसे भारी नुकसान पहुंचाया था। तभी से हर साल 4 दिसंबर को भारतीय नौसेना द्वारा पाकिस्तान पर जीत के तौर पर मनाया जाता है।

भारतीय नौसेना ने कई ऐसे मौके भी दिए हैं जब दुनिया को उनपर गर्व महसूस हुआ। आइए जानते हैं उन मौको के बारे में........

- आपको यह भी बता दें कि 1971 की लड़ाई में भारतीय नौसना ने ही पहली बार जहाज पर हमला करने वाली एंटी शिप मिसाइल का इस्तेमाल किया गया। भारतीय नौसेना के इस हमले में पाकिस्तान के कई जहाज बुरी तरह बर्बाद हो गए थे। पाकिस्तान और भारत के बीच यह लड़ाई सात दिनों तक चली थी।

- भारत के पूर्वी बिहार राज्य में मुजफ्फरपुर में पली-बढ़ी शिवांगी भारत की पहली महिला नौसेना पायलट हैं। सब लेफ्टिनेंट शिवांगी का कहना है कि वह एक युवा लड़की होने के कारण पायलट बनना चाहती थी। शिवांगी को उनके प्रारंभिक प्रशिक्षण के बाद पिछले साल भारतीय नौसेना में नियुक्त किया गया था। शिवांगी कोच्चि नौसैनिक अड्डे पर परिचालन कर्तव्यों में शामिल हो गई हैं। वह भारतीय नौसेना के डोर्नियर निगरानी विमान को उड़ाएंगी।

इसे भी पढ़ें :

India Navy Day 2018: इसलिए 4 दिसंबर को ही मनाया जाता है नौसेना दिवस

- भारतीय नौसेना ने 1961 में अपना पहला विमानवाहक पोत, INS विक्रांत का अधिग्रहण किया। इस पोत ने1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध में निर्णायक भूमिका निभाई थी। जनवरी 1997 में इसका विमोचन किया गया था। भारतीय नौसेना के पास 28,000 टन के विमानवाहक पोत आईएनएस विराट है।

- 2017 में, “द गाजी अटैक” नामक एक बॉलीवुड फिल्म बनीं थी, जिसमें 1971 के भारत-पाक युद्ध के दौरान पाकिस्तान की पनडुब्बी गाजी पर भारतीय नौसेना के बहादुर हमले के बारे में बात की गई थी। नौसेना वर्तमान में समुद्री गश्ती विमान के अलावा सबसे शीर्ष पायदान वाली पनडुब्बियों और जहाजों में से कुछ का संचालन करती है। आईएनएस कदमत, दूसरी निर्मित भारत में पनडुब्बी रोधी युद्ध कार्वेट, 2017 में जनवरी में विशाखापटनम में कमीशन किया गया था।