हैदराबाद : आज भारत के महान वैज्ञानिक और भौतिकशास्त्री सर सीवी रमन की पुण्यतिथि है। प्रकाश के प्रकीर्णन पर उत्कृष्ट कार्य के लिए उन्हें नोबेल पुरस्कार दिया गया। उनके आविष्कार को भी उनके ही नाम पर रामन प्रभाव के नाम से जाना जाता है। सरकार ने उन्हें भारत रत्न से सम्मानित किया गया था। चंद्रशेखर वेंकट रमन का निधन 21 नवंबर 1970 को हो गया था।

तमिलनाडु के तिरुचिरापल्ली में जन्मे सीवी रमन ने 1907 में मद्रास के प्रेसिडेंसी कॉलेज से फिजिक्स में मास्टर डिग्री लेने के बाद उन्होंने एक अकाउंटेंट के तौर पर सरकारी नौकरी शुरू की। 1917 में सीवी रमन कोलकाता यूनिवर्सिटी में फिजिक्स के प्रोफेसर बनें।

कहा जाता है कि सीवी रमन विज्ञान के क्षेत्र में काम करना चाहते थे। लेकिन उनके भाई चाहते थे कि वो सिविल सर्विस का एग्जाम पास कर भारत सरकार में बड़े अधिकारी बने। सीवी रमन का परिवार कर्ज में डूबा था। उनके ऊपर परिवार का कर्ज उतारने की जिम्मेदारी थी। अपने भाई के कहने पर रमन ने सिविल सर्विस की परीक्षा पास की और भारत सरकार के वित्त विभाग में सरकारी नौकरी कर ली। सीवी रमन को 1907 में अस्टिटेंट अकाउटेंट जनरल बनाकर कोलकाता भेजा गया।

सरकारी नौकरी करते हुए भी उनका विज्ञान के प्रति लगाव बना रहा। वो सरकारी नौकरी करते रहे और खाली वक्त में फीजिक्स पर रिसर्च करते रहे। उन्होंने 10 वर्षों तक सरकारी नौकरी की और इस दौरान अपना रिसर्च का काम जारी रखा। सीवी रमन का पार्ट टाइम रिसर्च कमाल का था।

1930 में सीवी रमन को भौतिक के क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार मिला। वो विज्ञान के क्षेत्र में नोबेल पाने वाले पहले एशियाई थे। 28 फरवरी 1928 को उन्होंने रमन इफेक्ट की खोज की थी। सीवी रमन के सम्मान में हर साल 28 फरवरी को विज्ञान दिवस के तौर पर मनाया जाता है।

सीवी रमन ने अनुसंधान के क्षेत्र में कई कीर्तिमान स्थापित किए। भारत में विज्ञान को नई ऊंचाइयां प्रदान करने में उनका काफी बड़ा योगदान रहा है। रोशनी के छितराने पर उनकी कोशिशें 'रमन स्कैटरिंग' और 'रमन इफेक्ट' तक पहुंचीं। वे अपने पुरस्कार जीतने को लेकर इतने आश्वस्त थे कि घोषणा से चार महीने पहले ही स्वीडन का टिकट बुक करा लिया था।

1943 में उन्होंने बेंगलुरु में रमन रिसर्च इंस्टीट्यूट की स्थापनी की। सीवी रमन को 1954 में भारत रत्न से सम्मानित किया गया। उनका मानना था कि महिलाएं विज्ञान के क्षेत्र में जाने पर पुरुषों की तुलना में अधिक अच्छा कर सकती हैं।