हिंदू धर्म में कार्तिक पूर्णिमा का विशेष महत्व है। इस दिन विशेष रूप से भगवान शिव शंकर की पूजा की जाती है और माना जाता है कि इस दिन भोलेनाथ को प्रसन्न करने से व्यक्ति सात जन्म तक ज्ञानी और धनवान होता है।

कार्तिक पूर्णिमा पर स्नान-दान का भी विशेष महत्व है। कहते हैं कि इस दिन दान करने से उसका दुगुना फल मिलता है। इस साल कार्तिक पूर्णिमा 12 नवंबर मंगलवार को मनाई जाएगी।

कार्तिक पूर्णिमा का महत्व

कार्तिक पूर्णिमा पर शिव जी की विशेष पूजा की जानी चाहिए। माना जाता है कि इस दिन चन्द्र जब आकाश में उदित हो रहा हो उस समय शिवा, संभूति, संतति, प्रीति, अनुसूया और क्षमा इन 6 कृतिकाओं का पूजन करने से शिव जी की प्रसन्नता प्राप्त होती है। इस दिन गंगा नदी में स्नान करने से भी पूरे वर्ष स्नान करने का फल मिलता है।

कार्तिक पूर्णिमा पर ऐसे करें दीपदान 
कार्तिक पूर्णिमा पर ऐसे करें दीपदान 

कार्तिक पूर्णिमा पर करें इन चीजों का दान

- गंगा स्नान के बाद दीप दान का भी महत्व है। इस दिन मौसमी फल (संतरा,सेब,शरीफा आदि), उड़द दाल, चावल और उजली चीजों का दान शुभ माना गया है।

- कार्तिक पूर्णिमा के दिन गाय, दूध, केले, खजूर, अमरूद, चावल, तिल और आवंले का दान जरूर करना चाहिए।

- कार्तिक पूर्णिमा के दिन ब्राह्मण, बहन और बुआ को अपनी श्रद्धा के अनुसार वस्त्र और दक्षिणा जरूर दें।

कार्तिक पूर्णिमा पर सू्र्य को जल चढ़ाएं 
कार्तिक पूर्णिमा पर सू्र्य को जल चढ़ाएं 

कार्तिक पूर्णिमा पर क्या करें

- कार्तिक पूर्णिमा के दिन गंगा स्नान अवश्य करना चाहिए, यदि आप गंगा स्नान करने नहीं जा सकते हैं तो आप घर में ही थोड़ा सा गंगाजल नहाने के पानी में मिलाकर स्नान करें।

-- स्नान करने के बाद सूर्य को जल चढ़ाएं।

इसे भी पढ़ें :

Kartik Purnima 2019: भगवान विष्णु ने इसी दिन लिया था मत्स्य अवतार, ये है इससे जुड़ी कथा

- घर में पूजा अवश्य करें। आपको पूजा करने के बाद घर में दीपक जरुर जलाना चाहिए। इस दिन जितना हो सके दान करना चाहिए।

- भगवान विष्णु के लिए सत्यनारायण भगवान की कथा करनी चाहिए।

कार्तिक पूर्णिमा पर दीपदान का महत्व 
कार्तिक पूर्णिमा पर दीपदान का महत्व 

- इस दिन दीपदान, पूजा, आरती और दान किया जाता है।

- कार्तिक पूर्णिमा पर गरीबों को फल, अनाज, दाल, चावल, गरम वस्त्र आदि चीजों का दान करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें :

Kartik Purnima 2019: इस दिन भोलेनाथ की पूजा का है विशेष महत्व, भूलकर भी न करें ये गलतियां

Kartik Purnima 2019: इस बार सर्वार्थ सिद्धि योग में मनेगी कार्तिक पूर्णिमा, जानें महत्व व मुहूर्त

- शिवलिंग पर जल चढ़ाकर ऊँ नम: शिवाय मंत्र का जाप करें। अभिषेक करें। कर्पूर जलाकर आरती करें।

- शिवजी के साथ ही गणेशजी, माता पार्वती, कार्तिकेय स्वामी और नंदी की भी विशेष पूजा करें।

- पूर्णिमा पर हनुमानजी के सामने दीपक जलाकर हनुमान चालीसा का पाठ करें।