भारत में शराब का सेवन करने वालों की तादाद लगातार इजाफा हो रहा है। एक सर्वे के मुताबिक देश में शराब पीने वालों तादाद लगभग 16 करोड़ है। सर्वे की रिपोर्ट साल 2019 के शुरुआती महीने में सामने आई थी जिसे सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय और एम्स ने साथ मिलकर किया था।
भारत में शराब का सेवन करने वालों की तादाद लगातार इजाफा हो रहा है। एक सर्वे के मुताबिक देश में शराब पीने वालों तादाद लगभग 16 करोड़ है। सर्वे की रिपोर्ट साल 2019 के शुरुआती महीने में सामने आई थी जिसे सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय और एम्स ने साथ मिलकर किया था।
इस सर्वे के मुताबिक देश में शराब पीने उम्र 10-75 साल तक की है।  यह सर्वे देश के सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशो में किया गया था। छत्तीसगढ़, त्रिपुरा, पंजाब, अरुणाचल प्रदेश और गोवा में शराब के सबसे अधिक प्रसार वाले शराब के उपभोक्ता हैं।
इस सर्वे के मुताबिक देश में शराब पीने उम्र 10-75 साल तक की है। यह सर्वे देश के सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशो में किया गया था। छत्तीसगढ़, त्रिपुरा, पंजाब, अरुणाचल प्रदेश और गोवा में शराब के सबसे अधिक प्रसार वाले शराब के उपभोक्ता हैं।
इस सर्वे के दौरान पहली बार शराब का सेवन करने वाली महिलाओं के आंकड़े भी जुटाए गए। रिपोर्ट में कहा गया है कि पुरुषों में शराब या अल्कोहल का सेवन करने वालों की तादाद महिलाओं 1.6 फीसदी के मुकाबले बहुत ज्यादा 27.3 फीसदी है।
इस सर्वे के दौरान पहली बार शराब का सेवन करने वाली महिलाओं के आंकड़े भी जुटाए गए। रिपोर्ट में कहा गया है कि पुरुषों में शराब या अल्कोहल का सेवन करने वालों की तादाद महिलाओं 1.6 फीसदी के मुकाबले बहुत ज्यादा 27.3 फीसदी है।
आंकड़ों के लिहाज 4.20 करोड़ शराब का सेवन करने वालों के साथ यूपी इस मामले में पहले स्थान पर है। पश्चिम बंगाल व मध्यप्रदेश में शराब का सेवन करने वालों की तादाद क्रमशः 1.40 और 1.20 करोड़ है। रिपोर्ट के मुताबिक, शराब पीने वालों में से 5.70 करोड़ लोग ऐसे हैं जिनको हेल्थ  संबंधी विभिन्न समस्याओं के लिए इलाज की जरूरत है। (क्या हैं शराब से होने वाले नुकसान ...
आंकड़ों के लिहाज 4.20 करोड़ शराब का सेवन करने वालों के साथ यूपी इस मामले में पहले स्थान पर है। पश्चिम बंगाल व मध्यप्रदेश में शराब का सेवन करने वालों की तादाद क्रमशः 1.40 और 1.20 करोड़ है। रिपोर्ट के मुताबिक, शराब पीने वालों में से 5.70 करोड़ लोग ऐसे हैं जिनको हेल्थ संबंधी विभिन्न समस्याओं के लिए इलाज की जरूरत है। (क्या हैं शराब से होने वाले नुकसान ...
लंबे समय तक शराब के सेवन से दिमाग सोंचने-समझने तथा निर्णय लेने की क्षमता खो बैठता है। इसके अलावा डिमेंशिया नामक बीमारी हो जाती है जिसमें व्‍यक्‍ति अपनी याददाश धीरे- धीरे खोने लगता है।
लंबे समय तक शराब के सेवन से दिमाग सोंचने-समझने तथा निर्णय लेने की क्षमता खो बैठता है। इसके अलावा डिमेंशिया नामक बीमारी हो जाती है जिसमें व्‍यक्‍ति अपनी याददाश धीरे- धीरे खोने लगता है।
शराब के बहुत ज्यादा सेवन से ऑक्‍सीजन ले जाने वाली लाल रक्त कोशिकाओं की संख्‍या असामान्‍य रूप से कम होने का कारण बनता है। इस अवस्‍था को एनीमिया कहते हैं। एनीमिया के कारण थकान, सांस लेने में तकलीफ या सांस का उखड़ना जैसी समस्‍याएं देखने को मिलती हैं।
शराब के बहुत ज्यादा सेवन से ऑक्‍सीजन ले जाने वाली लाल रक्त कोशिकाओं की संख्‍या असामान्‍य रूप से कम होने का कारण बनता है। इस अवस्‍था को एनीमिया कहते हैं। एनीमिया के कारण थकान, सांस लेने में तकलीफ या सांस का उखड़ना जैसी समस्‍याएं देखने को मिलती हैं।
अधिक शराब पीने के कारण प्लेटलेट्स की ब्‍लड क्लॉट्स के रूप में जमा होने की संभावना अधिक होती है जिसके कारण हार्ट अटैक या स्ट्रोक हो सकता है। शोधकर्ताओं ने पाया कि ज्‍यादा शराब पीने वाले उन लोगों में मौत का खतरा दोगुना हो जाता है, जिन्‍हें पहले हार्ट अटैक आ चुका है।
अधिक शराब पीने के कारण प्लेटलेट्स की ब्‍लड क्लॉट्स के रूप में जमा होने की संभावना अधिक होती है जिसके कारण हार्ट अटैक या स्ट्रोक हो सकता है। शोधकर्ताओं ने पाया कि ज्‍यादा शराब पीने वाले उन लोगों में मौत का खतरा दोगुना हो जाता है, जिन्‍हें पहले हार्ट अटैक आ चुका है।
लीवर सेल्‍स के लिए शराब जहर के सामान है। अधिक शराब पाने वाले अनेक लोगों को सिरोसिस की शिकायत रहती हैं जो कि कभी-कभी घातक हालत सिद्ध होती है। इस अवस्‍था में लीवर भारी होने के कारण कार्य करने में भी असमर्थ हो जाता है।
लीवर सेल्‍स के लिए शराब जहर के सामान है। अधिक शराब पाने वाले अनेक लोगों को सिरोसिस की शिकायत रहती हैं जो कि कभी-कभी घातक हालत सिद्ध होती है। इस अवस्‍था में लीवर भारी होने के कारण कार्य करने में भी असमर्थ हो जाता है।
शराब में कैंसर पैदा करने वाले गुण होते हैं। स्‍टडीज़ में पाया गया है कि सीधे तौर पर कैंसर का खतरा पैदा करता है। आप इसको नियमित रूप से पियें या कभी कभार, यह सिर और गले, लिवर, स्तन और कोलोरेक्टल आदि कैंसर को बढ़ावा देती है।
शराब में कैंसर पैदा करने वाले गुण होते हैं। स्‍टडीज़ में पाया गया है कि सीधे तौर पर कैंसर का खतरा पैदा करता है। आप इसको नियमित रूप से पियें या कभी कभार, यह सिर और गले, लिवर, स्तन और कोलोरेक्टल आदि कैंसर को बढ़ावा देती है।