करक चतुर्थी यानी करवा चौथ का त्योहार कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को मनाया जाता है। इस बार करवा चौथ का व्रत 17 अक्टूबर गुरुवार को है। इस दिन सुहागिन महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र के लिए व्रत रखती है।

इस बार करवा चौथ पर शुभ संयोग बन रहा है। करवाचौथ को इस बार रोहिणी नक्षत्र के साथ मंगल का योग होना अधिक मंगलकारी बना रहा है।विद्वान पंडित बता रहे हैं कि रोहिणी नक्षत्र और चंद्रमा में रोहिणी का योग होने से मार्कण्डेय और सत्याभामा योग इस करवाचौथ पर बन रहा है।

माना जा रहा है कि इस करवा चौथ जो सुहागिनें अपने पति के लिए व्रत रखेंगी, उनके लिए बहुत ही ज्यादा फलदायी होगा। ऐसा योग उस दौरान बना था जब श्रीकृष्ण औऱ सत्यभामा का मिलन हुआ था जैसा इस करवाचौथ पर बन रहा है।

करवा चौथ पूजा का शुभ मुहूर्त 
करवा चौथ पूजा का शुभ मुहूर्त 

करवा चौथ के इस खास मौके पर पूजा करने से पहले भजन और कीर्तन जरुर कर लेना चाहिए। ऐसा करने से वातावरण में सकारात्मकता बनी रहती है और पूजन का भी संपूर्ण फल मिलता है।

पंडित यह भी कह रहे हैं कि करवा चौथ के खास मौके पर यदि महिलाएं लाल रंग के कपड़े पहनती हैं, तो ऐसा कहा जाता है कि जिंदगी भर उन्हें उनके पति का प्यार मिलता है।

इसे भी पढ़ें :

करवा चौथ 2019 : यूं ट्रेडिशनल साड़ी में भी फुल स्लीव ब्लाउज़ से पाएं स्टाइलिश लुक

जानें किस देवता को कौन सी चीज न चढ़ाएं, पूजा का शुभ फल मिलेगा

ऐसा माना जाता है कि लाल रंग जो होता है वो गर्मजोशी का प्रतीक होता है और मनोबल भी बढ़ाता है। इसके अलावा लाल रंग को प्यार का प्रतीक भी कहा जाता है।

लाल रंग के कपड़े पहनने पर महिलाएं ज्यादा सुंदर और आकर्षक दिखाई देती हैं, साथ ही आकर्षण का क्रेंद भी बन जाती हैं।

पूरे विधि-विधान से करें पूजा 
पूरे विधि-विधान से करें पूजा 

वहीं ध्यान रहे कि इस दिन नीले, भूरे और काले रंग के कपड़े बिलकुल ना पहनें क्योंकि ये अशुभ का प्रतीक होता है। आपको बता दें कि भारत में इस पर्व की खूब धूम देखने को मिलती है।

इस बार व्रत से होगा विशेष लाभ 
इस बार व्रत से होगा विशेष लाभ 

करवाचौथ व्रत 2019 पूजा का शुभ मुहूर्त

शाम 17:50:03 से 18:58:47 तक

अवधि: 1 घंटे 8 मिनट

करवा चौथ 2019 चंद्रोदय समय : 20:15:59