हम सब जानते हैं कि पितृपक्ष चल रहा है और यह वह समय है जब हम अपने पितरों की मृत्यु तिथि को उनका श्राद्ध, तर्पण व पिंडदान करते हैं, उनसे शुभाशीष चाहते हैं। वहीं ऐसा भी माना जाता है कि पितृपक्ष में पितर पितृलोक से धरती पर आते हैं।

हमारे द्वारा किये गये श्राद्ध से तृप्त होते हैं और हमें आशीर्वाद देते हैं।यही वह तिथियां है जब हमें ऐसा आभास भी होता है कि पितर हमारे आसपास ही है। वहीं कई लोगों को तो इन दिनों पितर सपने में दिखाई भी देते हैं।

यहां सबसे पहले तो हमें यह जानना चाहिए कि सपने में पितरों के दिखने का भी महत्व होता है।

- शास्त्रों के अनुसार इन दिनों पितर हमारे सपने में आकर हमें आशीर्वाद दे जाते हैं। सपने में आकर वो हमें बताते हैं कि हमारे द्वारा किए गए श्राद्ध पुण्य से वो प्रसन्न हैं। उनके निमित्त किया गया दान पुण्य उन्हें मिल गया है।

- वहीं जानकार पंडित कहते हैं कि कभी-कभी पितर सपने में आकर किसी वस्तु की मांग भी करते हैं। वह सपने में आकर उस वस्तु के ना होने का संकेत देते हैं। जैसे अगर वो हमें नंगे पांव दिखें तो हमें उनके निमित्त जूते चप्पल का दान करना चाहिए।

- गरुड़ पुराण में कहा गया है कि अगर आपको सपने में पितर दिख रहे हैं तो आप समझ जाएं कि उनकी आत्मा को शांति नहीं मिली है।

इसे भी पढ़ें :

इन लक्षणों से जानें कि आपके पितृ आपसे प्रसन्न हैं या फिर नाराज

पितृपक्ष 2019 : जानें कैसे होने चाहिए पितृपक्ष के पकवान, क्यों खीर-पूरी के बिना अधूरा माना जाता है श्राद्ध

तब आपको उनके निमित्त घर में रामायण या भगवत् गीता का पाठ करवाना चाहिए। ऐसा करने से उनकी आत्मा को शांति मिलती है।

- सपने में पितर हमेशा घर के आसपास दिख रहे हैं तो समझ जाएं कि उनका घर परिवार को लेकर अभी मोह खत्म नहीं हुआ है।

अगर आपको भी सपने में पितर घर के आसपास दिखे तो उनके निमित्त रोज सुबह 2 रोटी निकाल लें और गाय को खिला दें।

इन सारी बातों पर ध्यान देंगे तो आपको समझ में आ जाएगा कि आपके पितर आपसे प्रसन्न है या नाराज। सपने में आपको वे इसका इशारा दे देंगे।