श्रावण 2019 : इस बार सावन का हर सोमवार है खास, जानें कैसे करें भोले बाबा को प्रसन्न  

भगवान शिव - Sakshi Samachar

भोलेनाथ का प्रिय महीना सावन शुरू हो चुका है और सावन सोमवार आने वाला है जिस दिन भगवान शंकर की विशेष पूजा व व्रत किये जाते हैं।

इस बार सावन में चार सोमवार होंगे और चारों सोमवार विशेष होंगे। जी हां, सावन सोमवार पर अद्भुत योग बन रहे हैं जिससे व्रत-पूजा का महत्व बढ़ जाएगा।

इस सावन में जहां दो सोमवार कृष्ण पक्ष में होंगे तो बाकी दो सोमवार शुक्ल पक्ष में होंगे। दो सोमवार को सोम प्रदोष रहेगा तो एक सोमवार को होगी नाग पंचमी। इस तरह शिव पूजा का महत्व बढ़ जाएगा साथ ही व्रती को इसका फल भी दुगना मिलेगा।

भगवान शिव

- पवित्र महीने सावन का पहला सोमवार 22 जुलाई को है। इस दिन भक्त भगवान शिव का रुद्राभिषेक करके उनकी कृपा के पात्र बन सकते हैं।

- सावन का दूसरा सोमवार होगा 29 जुलाई को और इस दिन शिव का प्रिय प्रदोष भी होगा। तो इस दिन भगवान शिव की पूजा, रुद्राभिषेक का महत्व बढ़ जाएगा। माना जाता है कि भगवान शिव के रुद्राभिषेक से भक्त की हर समस्या दूर हो जाती है।

- तीसरे सावन सोमवार पर भी अद्भुत योग बन रहा है। जी हां, इस दिन नाग पंचमी है और सिद्धि योग भी तो इस दिन भी शिव पूजा का विशेष फल भक्त को प्राप्त हो सकता है।

भगवान शिव की पूजा 

- अंतिम सावन सोमवार 12 अगस्त को है और इस दिन भी सोम प्रदोष व्रत है। इस दिन भी रुद्राभिषेक करके शिव की विशेष पूजा व व्रत करने से भक्त के सारे कष्ट दूर हो सकते हैं।

- माना जाता है कि भगवान भोलेनाथ का दूध से अभिषेक करने और बेलपत्र चढ़ाने से भक्त की कुंडली के सारे दोष समाप्त हो जाते हैं।

इसे भी पढ़ें :

श्रावण 2019 : जानें भगवान शंकर को क्यों चढ़ाते हैं बेलपत्र, क्या है इससे जुड़े नियम

- सोम प्रदोष का योग जब सावन सोमवार को पड़ता है तो इस दिन पूजा-अर्चना व व्रत का फल दुगना हो जाता है। इस बार दो बार ऐसा योग बनने से आप यह विशेष पूजा करके कृतार्थ हो सकते हैं। लड़का या लड़की के विवाह के योग न बनने पर भी आप सोम प्रदोष की पूजा कर सकते हैं सावन सोमवार को। वहीं जो भक्त संतान सुख से वंचित हैं वे भी इस दिन पूजा कर भगवान से मनोवांछित फल पा सकते हैं।

- वहीं सोम प्रदोष वाले सावन सोमवार को आप दूध से भगवान शिव का अभिषेक करके उन्हें फूलों की माला अर्पित करके सुख-समृद्धि की वरदान प्राप्त कर सकते हैं।

तो सावन सोमवार के आने से पहले ही आपको इनकी विशेषता के बारे में सारी जानकारी मिल गई है। तो अब सावन सोमवार व्रत-पूजा की पूरी तैयारी कर लीजिये और भोले को प्रसन्न करके पा लीजिये मनवांछित फल।

Advertisement
Back to Top