इस दिन लगेगा साल का दूसरा चंद्र ग्रहण, देखने से पहले इन जरूरी बातों का रखें ध्यान 

कान्सेप्ट फोटो  - Sakshi Samachar

नई दिल्ली : चंद्र ग्रहण एवं सूर्य ग्रहण एक खगोलीय घटना है जो प्रत्येक वर्ष घटित होती है। इन्हें खुली आंखों से सीधे देखना काफी हानिकारक माना जाता है। कहा जाता है कि नंगी आंखों से ग्रहण देखने से आंखों की रोशनी पर इसका प्रभाव पड़ता है।

इसके कारण आंखों की रोशनी मंद पड़ जाती है और वस्तुएं धुंधली दिखायी देने लगती है। हालांकि यह बात सत्य है लेकिन सूर्यग्रहण को नंगी आंखों से देखना नुकसानदायक होता है ना कि चंद्रग्रहण को।

16 जुलाई को चंद्र ग्रहण लगने वाला है। इसे पूरे भारत में देखा जा सकेगा। अनुमान है कि चंद्र ग्रहण करीब तीन घंटे तक रहेगा। यह 16 जुलाई की रात करीब 1 बजकर 32 मिनट पर लगेगा और 4 बजकर 30 मिनट पर समाप्त होगा।

चंद्र ग्रहण के समय बरतें ये सावधानियां

- जिस तरह आप सूर्य ग्रहण को देखते हैं, चंद्र ग्रहण को देखने के लिए आपको बहुत अधिक सावधानी बरतने की जरूरत नहीं है। कहने का अर्थ है कि आप किसी विशेष सोलर फिल्टर वाले चश्मे के बिना भी चंद्र ग्रहण को बेहद आसानी से देख सकते हैं।

- आप अपने घर की छत, खुले मैदान या पार्क में खड़े होकर आंखों को ऊपर उठाकर सीधे चंद्रग्रहण देख सकते हैं।

- चंद्रग्र हण देखने के लिए आपको अपनी आंखों की सुरक्षा की चिंता नहीं करनी चाहिए। चूंकि चंद्रमा की रोशनी आंखों पर कोई हानिकारक प्रभाव नहीं डालती है इसलिए आप बिना चश्मे के चंद्रग्रहण देख सकते हैं।

Advertisement
Back to Top