उमर खय्याम के 971वें जन्मदिन पर गूगल ने बनाया ये Doodle, जानिए क्या है खास

उमर खय्याम - Sakshi Samachar

हैदराबाद : प्रसिद्ध फारसी गणितज्ञ, खगोलशास्त्री, दार्शनिक और कवि, उमर खय्याम के 971वें जन्मदिन पर गूगल ने एक खास डूडल बनाया है। 18 मई 1048 को उत्तर पूर्वी ईरान में जन्मे उमर खय्याम ने कई उल्लेखनीय गणित और विज्ञान की खोज की।

वह पहले ऐसे व्यक्ति है जिन्होंने घन समीकरण को हल करने के लिए सामान्य तरीका निकाला। उन्होंने कोण के विच्छेदन से जुड़ी ज्यामितिय हल भी उपलब्ध कराया। उमर खैय्याम के महत्वपूर्ण योगदान में जलाली कैलेंडर भी शामिल है। यह सोलर कैलेंडर था जिसमें 33 साल के दिन, सप्ताह, तारीख और लीप वर्ष का पता लगाया जा सकता था। बाद में इसके आधार पर कई कैलेंडर बने।

उमर खय्याम अपनी कविताओं और छंदों के लिए भी मशहूर थे। उन्होंने हजारों रूबाइयां या छंद लिखे। उमर खय्याम की रूबाईयों के एक हिस्से को एडवर्ड फिट्जल्ड ने अनुवाद किया जो उनकी मौत के बाद पश्चिमी देशों में काफी लोकप्रिय हुआ।

अपने समय के मशहूर विद्वान रहे खय्याम खोरासान प्रांत के मलिक शाह प्रथम के सलाहकार और दरबार के खगोलशास्त्री के रूप में भी काम किया। खय्याम का बीजगणित के क्षेत्र में भी बड़ा योगदान रहा।

उन्होंने ‘Treatise on Demonstration of Problems of Algebra’ लिखा। उन्होंने संगीत और बीजगणित पर एक किताब ‘Problems of Arithmetic’ लिखी। 04 दिसंबर 1131 को उनका निधन हो गया। उन्हें खैय्याम गार्डन में दफनाया गया।

Advertisement
Back to Top