आज वैलंटाइंस वीक का छठा दिन है यानी 'हग-डे' अपनों को झप्पी देने का दिन। एक ऐसा दिन जब गले लगाकर प्यार का इजहार किया जा सकता है। कहा जाता है कि अपनो से गले लगकर सारे गम दूर हो जाते हैं। प्रेमी जोड़े एक-दूसरे को गले लगाकर प्यार की गहराइयों में खो जाते हैं और एक-दूसरे को स्पेशल फील कराते हैं।

कहते हैं कि अपने इश्क को गले लगाना बहुत मायने रखता है। गले लगाकर प्रेमी अपनी प्रेमिका को गले लगाकर अपने प्यार का इजहार करते हैं। तमाम उर्दू शायरों ने इस अंदाज-ए-बयां को लफ्जों में समेटा है। हग को उर्दू में आगोश भी कहा जाता है।

हग-डे 12 फरवरी को आता है और इसके बाद किस डे आता है। 14 फरवरी को वैलेंटाइन्स डे मनाया जाता है। फरवरी का पहला सप्ताह प्रेमियों को समर्पित होता है। इस सप्ताह प्रेमी जोड़े अलग-अलग अंदाज में अपने प्यार का इजहार करते हैं।

कुछ इस तरह अपने पार्टनर को गले लगाकर कर सकते हैं प्यार का इजहार

देखना कैसे पिघलते जाओगे

जब मेरी आग़ोश में तुम आओगे।।

सिर्फ एक बार गले लग कर मेरे दिल की धड़कन सुन

फिर लौटने का इरादा हम तुम पर छोड़ देंगे

मुझे भी जरूरत है तेरी बाहों की।

दुनिया के वजूद और दुनिया के रास्ते बहुत कमजोर हैं।।

कांसेप्ट इमेज
कांसेप्ट इमेज

तुम्हारी बांहों में आकर हमें जन्नत मिल गयी सारी।

खुदा से बोल दूं कि अपनी जन्नत अपने पास ही रखे।।

बातों-बातों में दिल ले जाते हो

देखते हो इस तरह जान ले जाते हो

आदतों से अपनी दिल को धड़काते हो

लेकर बांहों में सारा जहां भुलाते हो।।

कांसेप्ट इमेज
कांसेप्ट इमेज

लग जा गले यह रात फिर न आएगी

किस्मत भी हमको शायद फिर ना मिलाएगी

बाकी है बस चंद सांसें इस दिल में

रूह भी ना जाने कैसे तेरे बिन रह पाएगी।।

कांसेप्ट इमेज
कांसेप्ट इमेज

अपनी बांहों में मुझे बिखर जाने दो

सांसों से अपनी मुझे महक जाने दो

दिल बेचैन है कबसे इस प्यार के लिए

आज तो सीने में अपने मुझे उतर जाने दो।।

कांसेप्ट इमेज
कांसेप्ट इमेज

आज आग़ोश में था और कोई

देर तक हम तुझे न भूल सके

हग-डे सिर्फ लवर्स के लिए ही खास नहीं है बल्कि इस खास मौके पर आप अपने परिवार के सदस्यों, दोस्तों और लाइफ में खास अहमियत रखने वाले लोगों को भी गले लगाकर स्पेशल फील करवा सकते हैं।