जयपुर : राजस्थान में विधानसभा चुनाव को लेकर सट्टा बाजार काफी गर्म दिख रहा है। माना जा रहा है कि अबकी बार राजस्थान चुनाव को लेकर भी जमकर सट्टेबाजी होगी । कहा जा रहा है कि जिस तरह से चुनाव के समय में चैनलों पर प्री-पोल सर्वे की धूम मची रहती है उसी तरह से मतदान के पहले सट्टा बाजार भी राजनीतिक दलों की जीत-हार पर जमकर सट्टा लगाने के लिए जूझ रहा है।

सट्टा बाजार में किसी सरकार को बनाने के लेकर, किसी की सरकार जाने को लेकर तो मुख्यमंत्री के दावेदारों पर भी दांव लगाए जा रहे हैं। इतना ही नहीं, राज्य के अगले मुख्यमंत्री को लेकर भी सट्टा लगाने वालों में होड़ देखी जा रही है।

अबकी बार राजस्थान के चुनाव में कौन बनेगा मुख्यमंत्री और कौन बनाएगा सरकार की तर्ज पर सट्टेबाज अपनी बाजी लगा रहे हैं और नेताओं के भविष्य के दम पर पैसे कमाने का जुगत लगाए हुए हैं। सट्टेबाजी को लेकर अलग-अलग आंकड़े आ रहे हैं। कहीं 500 करोड़ की बात कही जा रही है तो कहीं 5 हजार करोड़ की चर्चा है।

कुछ सट्टेबाज कांग्रेस पार्टी की सत्ता में वापसी पर जोरदार से सट्टा लगा रहे हैं और बात कर रहे हैं कि कांग्रेस पार्टी के खाते में 125 से अधिक सीटें आएंगी। वहीं कुछ सट्टेबाज इस बात पर भी सट्टा लगा रहे हैं कि भारतीय जनता पार्टी की बहुत बुरी हार होगी और वह 50 से नीचे सिमट जाएगी।

इसे भी पढें :

मानवेंद्र ने वोटरों से पूछा सवाल, आपका वोट आने वाली सरकार को होगा या जाने वाली को

किसानों की दुर्दशा कांग्रेस के पापों का परिणाम : पीएम मोदी

मुख्यमंत्री के दावेदारों पर भी सट्टेबाजी करने वालों का बोलबाला है और कुछ लोग सचिन पायलट पर तो कुछ लोग अशोक गहलोत पर भी जमकर दांव लगा रहे हैं ।सचिन पायलट का भाव 25 से 30 पैसे तो अशोक गहलोत का 70 से 80 पैसे चल रहा है ।

ऐसा कहा जाता है कि राजस्थान का फलोदी सट्टा बाजार काफी सही भविष्यवाणी करता है और इसकी दो भविष्यवाणी पिछले चुनाव में सही हो चुकी है । 2013 में राजस्थान में भाजपा की सरकार की भविष्यवाणी सही हुई थी तो वहीं 2014 के चुनाव में भाजपा की कुल सीटों का अनुमान भी सही निकला था।