Thu Dec 12, 2019 Telugu English E-Paper Education
ब्रेकिंग न्यूज़
धनबाद में बोले पीएम मोदी- भाजपा ने सामान्य वर्ग के गरीब को भी 10 प्रतिशत दिया आरक्षण 
तीर्थ यात्रा ट्रेन को लेकर मनीष सिसोदिया ने रेलमंत्री पीयूष गोयल से की मुलाकात
जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले में LoC के पास पाकिस्तान ने किया सीजफायर का उल्लंघन
मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस में साकेत कोर्ट 14 जनवरी को सुनाएगा फैसला
नागरिकता बिल के खिलाफ IUML ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की याचिका  

संपादक की पसंद

अन्नपूर्णा जयंती: जानें मां पार्वती ने क्यों लिया था अन्नपूर्णा का रूप, पूजा-विधि व कथा 
संपादक की पसंद

अन्नपूर्णा जयंती: जानें मां पार्वती ने क्यों लिया था अन्नपूर्णा का रूप, पूजा-विधि व कथा 

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार एक बार जब पृथ्वी पर अन्न की कमी हो गयी थी, तब मां पार्वती ने अन्न की देवी, मां अन्नपूर्णा के रूप में प्रगट होकर पृथ्वी लोक पर अन्न उपलब्ध कराकर समस्त मानव जाति की रक्षा की थी।माना जाता है कि इस दिन भगवान शिव ने पृथ्वी वासियों के कल्याण के लिए भिक्षुक का रूप धारण किया था। अन्नपूर्णा जयंती को मां अन्नपूर्णा की विधि-विधान से पूजा अर्चना की जाती है, जिससे सभी मनोकामनाओं की पूर्ति होती है। व्रत रखने से भक्तों के घर अन्न, खाने-पीने की वस्तुओं और धन-धान्य से भर जाता है।

महाराष्ट्र के  लाखांदुर में राष्ट्रसंत श्री गाडगे बाबा की पुण्यतिथि महोत्सव 13 से, यह है कार्यक्रम
राष्ट्रीय

महाराष्ट्र के लाखांदुर में राष्ट्रसंत श्री गाडगे बाबा की पुण्यतिथि महोत्सव 13 से, यह है कार्यक्रम

कर्मयोगी वैराग्यमुर्ती वंदनीय राष्ट्रसंत श्री गाडगे बाबा की पुण्यतिथि महोत्सव 20 दिसंबर को गाडगे बाबा के पुतले के पास भंडारा जिले के लाखांदुर नगरी में मनाया जाएगा। पुण्यतिथि महोत्सव 13 से 20 दिसंबर तक भव्य रूप से मनाये जाने की व्यवस्था की गई है।

दत्तात्रेय जयंती: आज दत्तात्रेय व गणेशजी की साथ करेंगे पूजा तो मिलेगा शुभ फल  
संपादक की पसंद

दत्तात्रेय जयंती: आज दत्तात्रेय व गणेशजी की साथ करेंगे पूजा तो मिलेगा शुभ फल  

भगवान दत्तात्रेय की जयंती मार्गशीर्ष पूर्णिमा को मनाई जाती है। माना जाता है कि भगवान दत्तात्रेय त्रिदेव का स्वरूप है और इनकी पूजा से भक्त के सारे संकट दूर हो जाते हैं। दत्तात्रेय के पिता ऋषि अत्रि थे और माता अनुसूया थी।इस बार मार्गशीर्ष पूर्णिमा बुधवार को होने से इसका महत्व बढ़ गया है और चूंकि बुधवार भगवान गणेश को प्रिय है तो इस दिन दत्तात्रेय के साथ गणेशजी की पूजा करेंगे तो शुभ फल मिलेगा।

दत्तात्रेय जयंती: शीघ्र फलदायी होती है दत्तात्रेय की उपासना, जानें पूजा विधि व मंत्र  
संपादक की पसंद

दत्तात्रेय जयंती: शीघ्र फलदायी होती है दत्तात्रेय की उपासना, जानें पूजा विधि व मंत्र  

भगवान दत्तात्रेय तीनों देव यानी ब्रह्मा, विष्णु व महेश के स्वरूप माने जाते हैं।इसीलिए इन्हें गुरुदेवदत्त भी कहा जाता है।श्रीमद्भभगवत में आया है कि पुत्र प्राप्ति की इच्छा से महर्षि अत्रि के व्रत करने पर ‘दत्तो मयाहमिति यद् भगवान्‌ स दत्तः’ मैंने अपने-आपको तुम्हें दे दिया -विष्णु के ऐसा कहने से भगवान विष्णु ही अत्रि के पुत्र रूप में अवतरित हुए और दत्त कहलाए। अत्रिपुत्र होने से ये आत्रेय कहलाते हैं।

जानिए 10 दिसंबर को क्यों मनाया जाता है अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस 
संपादक की पसंद

जानिए 10 दिसंबर को क्यों मनाया जाता है अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस 

मानवाधिकार संरक्षण के लिहाज से 10 दिसम्बर के दिन का खास महत्व है। इस दिन को ‘अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस’ के तौर पर मनाया जाता है।

इस दिन से शुरू होगा खरमास, रुक जाएंगे मांगलिक कार्य 
संपादक की पसंद

इस दिन से शुरू होगा खरमास, रुक जाएंगे मांगलिक कार्य 

खरमास में मांगलिक कार्यक्रम रुक जाते हैं और फिर उसके बाद फिर से शुरू होते हैं। तो अब 15 दिसंबर तक ही मांगलिक कार्यक्रम होंगे। 16 दिसंबर 2019 से खरमास लग जाएगा जिसके कारण मांगलिक व शुभ कार्य रुक जाएंगे।अगले वर्ष यानी 14 जनवरी 2020 तक मंगल कार्य नहीं होंगे और फिर 15 जनवरी 2020 से मांगलिक कार्य शुरू हो जाएंगे। ज्योतिष विशेषज्ञों के अनुसार देव गुरु बृहस्पति 17 दिसंबर की शाम 5:50 बजे अस्त हो जाएंगे। इसके बाद 11 जनवरी 2020 को फिर उदय होंगे।

जानें कब और क्यों मनाई जाती है दत्तात्रेय जयंती, महत्व व कथा 
संपादक की पसंद

जानें कब और क्यों मनाई जाती है दत्तात्रेय जयंती, महत्व व कथा 

मार्गशीर्ष मास की पूर्णिमा को दत्तात्रेय जयंती मनाई जाती है। इसी दिन भगवान दत्तात्रेय का जन्म प्रदोषकाल में हुआ था। भगवान दत्तात्रेय को ब्रह्मा, विष्णु, महेश तीनों का स्वरूप माना जाता है। दत्तात्रेय को श्री गुरुदेवदत्त भी कहा जाता है।इस बार 11 दिसंबर 2019 को मार्गशीर्ष मास की पूर्णिमा है और इसी दिन मनाई जाएगी दत्तात्रेय जयंती। इस दिन भगवान दत्तात्रेय के मंदिरों में पूजा-अर्चना के लिए भक्तों की भीड़ रहती है।मान्यता अनुसार दत्तात्रेय जी ने 24 गुरुओं से शिक्षा प्राप्त की थी। भगवान दत्त के नाम पर दत्त संप्रदाय का उदय हुआ।

सोम प्रदोष व्रत: इस व्रत को करने से प्रसन्न होते हैं भोलेनाथ, जानें महत्व व पूजा विधि  
संपादक की पसंद

सोम प्रदोष व्रत: इस व्रत को करने से प्रसन्न होते हैं भोलेनाथ, जानें महत्व व पूजा विधि  

हम सब जानते ही हैं कि हिंदू धर्म में प्रदोष व्रत का बड़ा महत्व है। हर माह में दो प्रदोष व्रत आते हैं। प्रदोष व्रत हर मास के त्रयोदशी तिथि को पड़ता है। इस बार सोमवार के दिन पड़ने के कारण इसे सोम प्रदोष कहा गया है।प्रदोष के दिन शाम के समय विधि-विधान से भगवान शिव की आराधना करने से भक्तों को आरोग्य का आशीर्वाद प्राप्त होता है। भगवान शिव अपने भक्तों की सभी मनोकामनाएं पूरी करते हैं। इस बार सोम प्रदोष का व्रत 9 दिसंबर सोमवार को पड़ रहा है। भोलेनाथ को प्रसन्न करने के लिए इस दिन पूजा के साथ ही व्रत भी किया जाता है।

प्रदर्शन कलाओं में नाट्य शास्त्र की भूमिका पर  सेमिनार आयोजित, वक्ताओं ने दिया यह संदेश
तेलंगाना

प्रदर्शन कलाओं में नाट्य शास्त्र की भूमिका पर सेमिनार आयोजित, वक्ताओं ने दिया यह संदेश

भक्ति, साहित्य और सांस्कृतिक अध्ययन शोध संस्थान, तुलसी भवन, उस्मानिया विश्वविद्यालय के डायरेक्टर प्रो प्रदीप कुमार द्वारा यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ आर्ट्स एंड सोशल साइंसेज के सेमिनार हॉल में एक दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन किया गया। जिसका विषय था- ‘प्रदर्शन कलाओं में नाट्य शास्त्र की भूमिक।’

Gita Jayanti 2019: रोचक है ‘गीता जयंती’ के बारे में जानना
समाचार

Gita Jayanti 2019: रोचक है ‘गीता जयंती’ के बारे में जानना

द्वापर युग में भगवान श्रीकृष्‍ण ने अर्जुन को श्रीमद्भगवद् गीता का उपदेश दिया था। इस दिन को गीता जयंती (Gita Jayanti) के नाम से हिंदु मनाते हैं। 

नौसेना की पहली महिला पायलट शुभांगी स्वरूप, उड़ाएंगी डॉर्नियर टोही विमान 
संपादक की पसंद

नौसेना की पहली महिला पायलट शुभांगी स्वरूप, उड़ाएंगी डॉर्नियर टोही विमान 

भारतीय नौसेना के इतिहास में शुभांगी स्वरूप का नाम एक बड़ी उपलब्धि के साथ दर्ज हो गया है। वह भारतीय नौसेना की पहली महिला पायलट हैं। शुभांगी दो वर्ष पहले भारतीय नौसैनिक अकादमी से ग्रेजुएट हुई महिला अधिकारियों के पहले बैच का हिस्सा थीं।

गीता जयंती : श्री कृष्ण के उपदेश से बदल सकता है जीवन, जानें महत्व  
संपादक की पसंद

गीता जयंती : श्री कृष्ण के उपदेश से बदल सकता है जीवन, जानें महत्व  

मार्गशीर्ष मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी को मोक्षदा एकादशी का व्रत रखा जाता है। माना जाता है कि इस व्रत को रखने व इस दिन भगवान श्री कृष्ण की पूजा मात्र से हमें मोक्ष की प्राप्ति हो सकती है। इस बार मोक्षदा एकादशी का व्रत 8 दिसंबर रविवार को रखा जाएगा।द्वापर युग में मार्गशीर्ष मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी को ही भगवान श्री कृष्ण ने अर्जुन को गीता उपदेश दिया था। इसीलिए मोक्षदा एकादशी को गीता जयंती का पर्व भी मनाया जाता है।

शुभ फलदायी होता है मोक्षदा एकादशी का व्रत, जानें इसका महत्व, पूजा-विधि व मुहूर्त  
संपादक की पसंद

शुभ फलदायी होता है मोक्षदा एकादशी का व्रत, जानें इसका महत्व, पूजा-विधि व मुहूर्त  

हिंदू धर्म में एकादशी के व्रत का बहुत महत्व होता है। वैसे तो सभी एकादशियां पुण्यदायी मानी जाती है लेकिन कुछ एकादशियां बहुत ही खास होती हैं। इन्हीं खास एकादशियों में से एक है मोक्षदा एकादशी।मार्गशीर्ष मास की शुक्ल एकादशी का नाम मोक्षदा है। मोक्षदा एकादशी व्रत की खासियत यह है कि यही वो दिन है जब भगवान श्री कृष्ण ने कुरुक्षेत्र की पावन धरा पर मानव जीवन को नई दिशा देने वाली गीता का उपदेश दिया था। मोक्षदा एकादशी के दिन ही गीता जयंती का पर्व भी मनाया जाता है।

सूर्य पूजा से होती है यश की प्राप्ति, रविवार को ऐसे दें अर्घ्य 
संपादक की पसंद

सूर्य पूजा से होती है यश की प्राप्ति, रविवार को ऐसे दें अर्घ्य 

प्राचीन परंपराओं में पंचदेव बताए गए हैं, जिनकी पूजा रोज करनी चाहिए। ये पंचदेव हैं, श्रीगणेश, शिवजी, विष्णुजी, देवी दुर्गा और सूर्य देव। सूर्यदेव एक मात्र साक्षात् दिखाई देने वाले देवता हैं। इसीलिए हर रोज सूर्य को अर्घ्य देने का अपना ही महत्व है।

आज ही के दिन भारतीय नौसेना को मिली थी पहली पनडुब्बी
संपादक की पसंद

आज ही के दिन भारतीय नौसेना को मिली थी पहली पनडुब्बी

आठ दिसंबर की तारीख देश की हिफाजत में लगी सेनाओं के लिए खास अहमियत रखती है। दरअसल 8 दिसंबर 1967 को पहली पनडुब्बी कलवरी को भारतीय नौसेना में शामिल किया गया था

क्यों मनाया जाता है सशस्त्र सेना झंडा दिवस,पढ़कर आपको भी होगा गर्व
संपादक की पसंद

क्यों मनाया जाता है सशस्त्र सेना झंडा दिवस,पढ़कर आपको भी होगा गर्व

सशस्त्र सेना झंडा दिवस प्रत्येक वर्ष सात दिसंबर को मनाया जाता है। सशस्त्र सेना झंडा दिवस मनाने का मुख्य मकसद देश की सेना के प्रति सम्मान प्रकट करना है। साल 1949 से सात दिसंबर को सशस्त्र सेना झंडा दिवस के रूप मनाया जाता है।

क्या हैदराबाद पुलिस द्वारा किया गया एनकाउंटर समय की मांग था...?
तेलंगाना

क्या हैदराबाद पुलिस द्वारा किया गया एनकाउंटर समय की मांग था...?

आज़ सुबह से ही पूरे देश में जश्न का माहौल है और तेलंगाना पुलिस की वाहवाही हो रही है। हो भी क्यों न, पुलिस ने काम ही ऐसा किया है। दिशा हत्याकांड के आरोपी पुलिस की कस्टडी में थे और जांच को आगे बढ़ाने के लिए पुलिस आज़ उन्हें घटनास्थल पर लेकर गई थी।

शनिवार को ऐसे करें शनिदेव की पूजा, इन सावधानियों पर ध्यान दें
संपादक की पसंद

शनिवार को ऐसे करें शनिदेव की पूजा, इन सावधानियों पर ध्यान दें

शनिवार का दिन शनिदेव को समर्पित है और इस दिन उनकी विशेष पूजा-अर्चना की जाती है। वहीं जो लोग शनि की साढ़ेसाती से पीड़ित होते हैं, वे भी शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए शनिवार को खास उपाय करते हैं।शनिदेव को न्याय का देवता कहा जाता है और कहते हैं कि वे जातक को उसके कर्मों के हिसाब से फल प्रदान करते हैं।

आज ही के दिन मिस वर्ल्ड चुनी गईं थी भारतीय सुंदरी  युक्ता मुखी 
संपादक की पसंद

आज ही के दिन मिस वर्ल्ड चुनी गईं थी भारतीय सुंदरी युक्ता मुखी 

1990 के दशक में भारत की सुंदरियों ने दुनियाभर की सौंदर्य प्रतियोगिताओं में देश का नाम रोशन किया और 1994 में शुरू हुए इस सिलसिले में 1999 में युक्ता मुखी ने एक और सुनहरा अध्याय जोड़ दिया।

जोश मलीहाबादी : मुझ को तो होश नहीं तुम को ख़बर हो शायद....
संपादक की पसंद

जोश मलीहाबादी : मुझ को तो होश नहीं तुम को ख़बर हो शायद....

जोश मलीहाबादी एक ऐसे शायर हुए जिन्होंने देश की आजादी के लिए अंग्रेजों को खिलाफ अपनी कलम उठाई। उन्होंने ऐस शेर कहने शुरू किए जो उस वक्त आम आदमी के नारे बन गए। इसलिए उन्हें इंकलाबी शायर कहा गया।

इंद्र कुमार गुजराल को जब रात में अचानक पता चला कि वह प्रधानमंत्री बनने वाले हैं, पढ़ें दिलचस्प किस्सा
राष्ट्रीय राजनीति

इंद्र कुमार गुजराल को जब रात में अचानक पता चला कि वह प्रधानमंत्री बनने वाले हैं, पढ़ें दिलचस्प किस्सा

पूर्व प्रधानमंत्री इंद्र कुमार गुजराल भारतीय राजनीति का वह चेहरा थे, जिन्होंने अपने उसूलों से कभी समझौता नहीं किया। फिर चाहे उसके लिए उन्हें कोई भी कीमत चुकानी पड़ी हो। देश के 12वें प्रधानमंत्री इंद्र कुमार गुजराल की आज 100वीं जयंती है। उनका जन्म 4 दिसंबर 1919 को अविभाजित भारत में पंजाब के झेलम (अब पाकिस्तान, लाहौर) में हुआ था।

India Navy Day 2019 : आज ही के दिन ऑपरेशन ट्राइडेंट में पाक के जलपोत किए थे नेस्तोनाबूत
संपादक की पसंद

India Navy Day 2019 : आज ही के दिन ऑपरेशन ट्राइडेंट में पाक के जलपोत किए थे नेस्तोनाबूत

आज भारतीय नौसेना दिवस है। भारतीय नौसेना हर साल 4 दिसंबर को मनाय जाता है। यह दिवस भारत की पाकिस्तान पर जीत के तौर पर मनाया जाता है।

‘खामोश ज्वालामुखी’ दर्शन सिंह के कविता संग्रह लोकार्पित, कवित्री कुमुद बाला ने कही यह बात
तेलंगाना

‘खामोश ज्वालामुखी’ दर्शन सिंह के कविता संग्रह लोकार्पित, कवित्री कुमुद बाला ने कही यह बात

गीत चांदनी के तत्वावधान में कवि दर्शन सिंह के कविता संग्रह ‘खामोश ज्वालामुखी’ का लोकार्पण किया गया। रविवार को आबिड्स स्थित राजस्थान स्नातक संघ सभागार में लोकार्पण कार्यक्रम संपन्न हुआ। इस कार्यक्रम में श्रीराम शरण झा कार्यपालक नाभिकीय इंदन सम्मिश्र (एनएफसी) के करकमलों से खामोश ज्वालामुखी कविता संग्रह का लोकार्पण किया गया।

भोपाल गैस त्रासदी : बढ़ता ही जा रहा मर्ज, पीड़ितों की तीसरी पीढ़ी भी विकलांग
संपादक की पसंद

भोपाल गैस त्रासदी : बढ़ता ही जा रहा मर्ज, पीड़ितों की तीसरी पीढ़ी भी विकलांग

मध्य प्रदेश की राजधानी में 35 साल पहले हुई गैस त्रासदी के पीड़ितों का दर्द कम होने की बजाय बढ़ता ही जा रहा है। साढ़े तीन दशकों में राज्य और केंद्र में सरकारें बदलती रहीं, लेकिन नहीं बदली पीड़ितों की किस्मत। इन्हें उतनी मदद नहीं मिली, जितने की सख्त जरूरत थी।

 हर साल क्यों मनाया जाता है विश्व दिव्यांग दिवस, जानिए वजह
गेस्ट कॉलम

हर साल क्यों मनाया जाता है विश्व दिव्यांग दिवस, जानिए वजह

अंतर्राष्ट्रीय, राष्ट्रीय और क्षेत्रीय स्तर पर समाज में दिव्यांगों के विकास और पुनरुद्धार के अलावा बराबरी के अवसर मुहैया करने पर जोर देने के उद्देश्य से हर वर्ष 3 दिसंबर को अंतर्राष्ट्रीय दिव्यांग (विकलांग) दिवस मनाया जाता है।

ध्यानचंद की पुण्यतिथि : खिलाड़ियों का होना चाहिए एकमात्र लक्ष्य सर्वश्रेष्ठ तथा ऐतिहासिक प्रदर्शन
संपादक की पसंद

ध्यानचंद की पुण्यतिथि : खिलाड़ियों का होना चाहिए एकमात्र लक्ष्य सर्वश्रेष्ठ तथा ऐतिहासिक प्रदर्शन

हाकी के सर्वश्रेष्ठ सितारे मेजर ध्यानचंद की 3 दिसंबर 1979 में मृत्यु बीमारी के कारण हो गयी थी। हम इस महान खिलाड़ी की पुण्य तिथि पर सभी देशवासियों की तरफ से शत शत नमन करते है।

National Pollution Control Day 2019 : क्या आप जानते हैं राष्ट्रीय प्रदूषण नियंत्रण दिवस से जुड़ी ये बातें
संपादक की पसंद

National Pollution Control Day 2019 : क्या आप जानते हैं राष्ट्रीय प्रदूषण नियंत्रण दिवस से जुड़ी ये बातें

देश में प्रदूषण सबसे बड़ा खतरा बनकर उभरा है। राजधानी दिल्ली समेत कई ऐसे शहर हैं, जहां खुली हवा में सांस लेना जहर की तरह है। भारत के कई शहर विश्व के सबसे प्रदूषित शहरों की लिस्ट में शामिल किए गए हैं। बढ़ते प्रदूषण को रोकने और लोगों में जागरूकता लाने के लिए हर साल 2 दिसंबर को राष्ट्रीय प्रदूषण नियंत्रण दिवस मनाया जाता है।

 एक दिसंबर : कई महत्वपूर्ण घटनाओं का गवाह है साल के अंतिम महीने का पहला दिन 
संपादक की पसंद

एक दिसंबर : कई महत्वपूर्ण घटनाओं का गवाह है साल के अंतिम महीने का पहला दिन 

एक दिसंबर आने के साथ ही साल के आखरी महीने की शुरुआत हो गई और इतिहास में यह दिन बहुत सी घटनाओं के साथ दर्ज है। इनमें एक घटना कहने को तो मामूली सी है, लेकिन इसने इतना विशाल रूप धारण कर लिया कि इतिहास में जगह बना गई।

 प्रियंका रेड्डी के गैंगरेप पर सवाल उठाती है यह कविता, आंख में आ जाएंगे आंसू..!
संपादक की पसंद

प्रियंका रेड्डी के गैंगरेप पर सवाल उठाती है यह कविता, आंख में आ जाएंगे आंसू..!

प्रियंका रेड्डी की मां विजयम्मा ने कहा कि मेरी मासूम बेटी जो दुनिया के इस घिनौने चेहरे से अपरिचित थी, को इन लोगों ने इतनी बेरहमी से मार दिया, उसके साथ ऐसा सलूक किया, इन्हें जीने का कोई हक नहीं है।

World Aids Day 2019 : जानिए एड्स से जुड़े भ्रम और उसकी सच्चाई 
संपादक की पसंद

World Aids Day 2019 : जानिए एड्स से जुड़े भ्रम और उसकी सच्चाई 

आज विश्व एड्स दिवस है। हर साल 1 दिसंबर को विश्व एड्स दिवस मनाया जाता है। इसे मनाने का अहम मकसद एचआईवी संक्रमण की वजह से होने वाली बीमारी एड्स के बारे में जागरुकता बढ़ाना है।

डॉ प्रियंका रेड्डी हत्याकांड : आखिर कब तक जलाई जाती रहेंगी देश की बेटियां !
तेलंगाना

डॉ प्रियंका रेड्डी हत्याकांड : आखिर कब तक जलाई जाती रहेंगी देश की बेटियां !

अब तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में घटित डॉ प्रियंका रेड्डी हत्याकांड पूरे देश की सुर्खियों में है। अभी तक तो ‘निर्भया’ के दोषियों को ही फांसी की सजा नहीं दी गई है और एक और निर्भया हवस के दरिंदों की दरिंदगी का शिकार हुई है।

निर्भया से प्रियंका तक, इन वारदातों ने देश को  झकझोरा
संपादक की पसंद

निर्भया से प्रियंका तक, इन वारदातों ने देश को झकझोरा

देश में एक बार फिर उबाल है। लोग एक बार फिर सड़कों पर उतरे हैं। न्याय की मांग फिर की जा रही है। यह सब एक ‘बेटी’ के लिए किया जा रहा है, जैसा साल 2012 में निर्भया गैंगरेप के बाद भी किया गया था। साल बदला, समय बदला पर तस्वीर जस की तस बनी हुई है।

मध्य प्रदेश में कांग्रेस के लिए ‘अपने’ ही बन रहे मुसीबत, जानिए कैसे
राष्ट्रीय राजनीति

मध्य प्रदेश में कांग्रेस के लिए ‘अपने’ ही बन रहे मुसीबत, जानिए कैसे

मध्य प्रदेश में कांग्रेस के लिए विरोधी दल भारतीय जनता पार्टी से ज्यादा ‘अपने’ ही यानी कांग्रेस के नेता ही मुसीबतें खड़ी करने में लगे हैं। पार्टी लगातार हिदायतें दे रही है, मगर किसी पर कार्रवाई करने का साहस नहीं दिखा पा रही है

शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए शनिवार को करें ये खास उपाय, आर्थिक तंगी होगी दूर
संपादक की पसंद

शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए शनिवार को करें ये खास उपाय, आर्थिक तंगी होगी दूर

हम सब जानते ही हैं कि शनिवार को विशेष रूप से हनुमानजी व शनिदेव की पूजा की जाती है। शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए कई तरह के उपाय किये जाते हैं ताकि हमारे जीवन में किसी तरह की कोई परेशानी न आए।

‘तेलंगाना आएगा या केसीआर मरेगा’ दीक्षा दिवस आज, तेलंगाना भर में सेवा कार्यक्रम
तेलंगाना राजनीति

‘तेलंगाना आएगा या केसीआर मरेगा’ दीक्षा दिवस आज, तेलंगाना भर में सेवा कार्यक्रम

पृथक तेलंगाना गठन आंदोलन में आज का दिन काफी महत्वपूर्ण है। अहिंसा आंदोलन का मुख्य दिवस है। इसी दिन पूरा तेलंगाना को एकजुट हुआ था। तत्कालीन आंदोलन के प्रमुख नेता और तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के अध्यक्ष के चंद्रशेखर राव (केसीआर) ने ठीक दस साल पहले आज ही के दिन आमरण अनशन आरंभ किया था।

तीन शुक्रवार करेंगे ये खास उपाय तो मिलेगा मां लक्ष्मी का वरदान, धन-धान्य से भर जाएंगे भंडार 
संपादक की पसंद

तीन शुक्रवार करेंगे ये खास उपाय तो मिलेगा मां लक्ष्मी का वरदान, धन-धान्य से भर जाएंगे भंडार 

हम सब यह चाहते हैं कि हमारे जीवन में किसी चीज की कोई कमी न हो, हमें सुख-संपत्ति का वरदान मिले और इसके लिए हम लगातार मेहनत भी करते हैं। लेकिन कभी-कभी ऐसा भी होता है कि मेहनत करने के बाद भी आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ता है और इस वजह से समझ में नहीं आता कि आखिर क्या करें मां लक्ष्मी का वरदान मिले, हमारे भंडार धन-धान्य से भर जाएं।इसके लिए आपको कुछ खास उपाय शुक्रवार को करने चाहिए। जी हां, मां लक्ष्मी की पूजा के साथ ही शुक्रवार को मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए उपाय तीन शुक्रवार को लगातार किये जाए तो मां लक्ष्मी की कृपा बरसने लगती है। इसके बाद किसी चीज की कोई कमी नहीं रहती।

प्रदूषण में वृद्धि के लिए सिर्फ सरकार को दोषी ठहराना उचित नहीं, ये हैं जिम्मेदार और कारण 
तेलंगाना

प्रदूषण में वृद्धि के लिए सिर्फ सरकार को दोषी ठहराना उचित नहीं, ये हैं जिम्मेदार और कारण 

बीते कई दिनों से देश की राजधानी दिल्ली के एनसीआर में वायु प्रदूषण बेहद ख़तरनाक स्तर पर पहुंच गया है। इसकी वजह से वहां के निवासियों को न केवल सांस लेने में तकलीफ़ हो रही है बल्कि आंखों में जलन और त्वचा सम्बन्धी अन्य परेशानियां भी हो रही हैं।

गुरुवार को ऐसे करेंगे व्रत-पूजा तो मिलेगा शुभ फल, गलती से भी न करें ये काम 
संपादक की पसंद

गुरुवार को ऐसे करेंगे व्रत-पूजा तो मिलेगा शुभ फल, गलती से भी न करें ये काम 

गुरुवार के व्रत से जहां आपका गुरु ग्रह मजबूत होता है वहीं आपके घर सुख-संपत्ति भी आती है। यह भी कहा जाता है कि 16 गुरुवार व्रत करने से सारी मनोकामनाएं पूरी हो जाती है और व्रत पूरे करके 17वें गुरुवार को इस व्रत का उद्द्यापन करना चाहिए।

बुधवार को ही क्यों की जाती है भगवान गणेश की पूजा, ये है कारण  
संपादक की पसंद

बुधवार को ही क्यों की जाती है भगवान गणेश की पूजा, ये है कारण  

माना जाता है कि बुधवार को गणेशजी की उपासना से व्यक्ति का सुख-सौभाग्य बढ़ता है और उसके जीवन की सभी तरह की रुकावटें दूर होती हैं।

‘साहित्य रत्न’ तेजराज जैन स्मृति सभा संपन्न, किया गया उनकी सेवाओँ को याद
तेलंगाना

‘साहित्य रत्न’ तेजराज जैन स्मृति सभा संपन्न, किया गया उनकी सेवाओँ को याद

डॉ अहिल्या मिश्र ने मनचासीन अतिथियों का परिचय देते हुए तेजराज जैन से जुड़ी यादों को साझा किया। उन्होंने कहा कि तेजराज जैन एक संवेदनशील साहित्यकार थे और सहज सरल व्यक्तित्व के धनी थे । तेजराज की स्मृति में कादम्बिनी क्लब ने गीतों भरी शाम का आयोजन भी किया जिसमें उन्हीं के गीतों को संगीतबद्ध किया गया था।