CPM ने माओवादियों से संबंध के आरोप में दो छात्रों को पार्टी से निकाला

कॉन्सेप्ट फोटो - Sakshi Samachar

तिरुवनंतपुरम (केरल) : माकपा ने रविवार को यहां कहा कि पार्टी ने माओवादियों से कथित संबंध होने को लेकर गिरफ्तार किए गए दो छात्रों को पार्टी से निकाल दिया है। इन दोनों छात्रों को माओवादियों से संबंध होने के आरोप में गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) अधिनियम के तहत पिछले साल नवंबर में गिरफ्तार किया गया था।

पार्टी के राज्य सचिव कोडियारी बालाकृष्णन ने यहां संवाददाताओं से कहा कि दोनों छात्र एलन सुहैब और थाहा फजल ‘‘माकपा और माओवादियों के लिए" एक साथ काम कर रहे थे।

उन्होंने कहा, ‘‘ये दोनों अब माकपा के सदस्य नहीं हैं। पार्टी ने इन दोनों के खिलाफ कार्रवाई की है।'' हालांकि, फजल की मां जमीला ने कहा कि पार्टी से उनके बेटे को निकाले जाने का दुख है लेकिन वह पार्टी नहीं छोड़ेंगी। जमीला का परिवार कट्टर मार्क्सवादी रहा है।

उन्होंने कहा, ‘‘हां, इस तरह की खबर जब आती है तो दुख होता है। किसी भी स्थानीय नेता ने हमें इस बारे में जानकारी नहीं दी। मैं अब भी पार्टी में विश्वास रखती हूं। इसे नहीं छोड़ूंगी।''

माकपा राज्य समिति की दो दिवसीय बैठक के बाद मीडिया को संबोधित करते हुए बालकृष्णन ने यह भी कहा, ‘‘आरएसएस ‘जय श्री राम' के नारे के साथ हिंदुओं का ध्रुवीकरण करने की कोशिश कर रही है, जबकि एसडीपीआई और जमात-ए-इस्लामी ‘बोलो तकबीर' नारे के साथ मुसलमानों का ध्रुवीकरण करने की कोशिश कर रही है। दोनों को दूर हटाने की जरूरत है।''

वहीं, राज्य विधानसभा में पेश कैग की रिपोर्ट में बंदूकें और आयुध गायब होने का खुलासा किए जाने पर उन्होंने कहा कि यह घटना 2013 से 2018 के बीच हुई।

Advertisement
Back to Top