ओंगोल : बिना किसी सुगबुगाहट के अधिकारियों को मैसेज कर करोड़ों रुपये की अवैध कमाई करनेवाले माइनिंग माफिया से जुडे 16 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। यह जानकारी एसपी सिद्धार्थ कौशल ने दी।

उन्होंने कहा कि मुंबई माफिया की तर्ज पर अवैध कमाई करनेवाले इन लोगों के खिलाफ सीबीआई की जांच करने की कोई आवश्यकता नहीं है। जिला पुलिस ही आरोपियों का पर्दाफाश करेगी।

एसपी ने बताया कि गिरफ्तार लोगों में पठाण आरिफउल्लाह, शेख शब्बीर, शेख रहीम, कोनेरु सतीश, गड्डम हेमंत, आलकुंटा रविकुमार, वेमुला जेल्लय्या, पठाण जानीपाशा, कल्लेपल्ली शिवप्रसाद वर्मा, गुर्रूकोंडा भगवान, चल्लागोंडा कार्तिक चौधरी, एलिका रवि, पेद्दिशेट्टी रविकुमार, बिल्ला चिनाबाबू, कोटगिरी श्रीनिवासराव, काकुमानु चंद्रमोहन उर्फ चंद्रमौली शामिल हैं।

पुलिस अधीक्षक ने कहा कि इस मामले में दो महीने पहले चार लोगों को गिरफ्तार किया गया था। अब तक कुल 16 लोग गिरफ्तार हुये हैं। आरोपियों ने सरकार के टैक्स का भुगतान किये बिना जीएसटी और माइनिंग बिल से जुडे 300 करोड़ रुपयों का नुकसान किया है।

इसे भी पढ़ें :

TDP नेता यरपतिनेनी श्रीनिवास राव समेत एडी, आरडीओ और सीआई के खिलाफ मामला दर्ज

आंध्र सरकार CBI को सौंपेगी पल्नाडु अवैध खनन मामला

अवैध रुप की गई ढुलाई की कीमत 900 करोड़ रुपये है। इस मामले में 123 लोगों को गिरफ्तार किया जाना है। यह संख्या बढ़ सकती है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने उन्हें कई बार आदेश दिया था। इस मामले में सहयोग देने की बात करते हुये एसआईटी का विशेष रूप से अभिनंदन किया।