सूर्यापेट : कहते हैं कि शक की कोई दवा नहीं और जब व्यक्ति को यह रोग लग जाए तो वह अच्छा-बुरा कुछ नहीं सोचता। कुछ ऐसा ही यहां एक महिला डॉक्टर ने किया। पति से अवैध संबंध रखने के शक के चलते महिला डॉक्टर ने नर्स को सुई व छुरे से बुरी तरह हिंसित किया। सूर्यापेट जिले के केंद्र में हुई यह घटना पीड़ित की शिकायत के बाद देर से पता चली।

विस्तार से जानने पर पता चला कि डॉक्टर विजयलक्ष्मी और उनके पति डॉ रामकृष्णा ने सूर्यापेट में एक मल्टी स्पेशलिटी अस्पताल का निर्माण किया। पति-पत्नी दोनों मिलकर अस्पताल चलाते हैं, अस्पताल से जुड़े कामकाज देखते हैं।

कुछ दिनों से पत्नी को शक हो गया कि उनके पति के अस्पताल में काम करने वाली नर्सों के साथ अवैध संबंध है और वे नर्सों के साथ मिलकर उनकी आंखों में धूल झोंक रहे हैं।कई बार इसी बात को लेकर डॉ विजयलक्ष्मी के नर्सों के साथ कहा-सुनी होने की बात भी पता चली है। इसी शक के चलते कुछ दिनों पहले डॉक्टर ने कई नर्सों को नौकरी से भी निकाल दिया।

फिर भी महिला डॉक्टर के दिमाग से शक खत्म नहीं हुआ। इसी के चलते इस महीने की छ: तारीख को जब उनके पति अस्पताल में नहीं थे तब उन्होंने सुनीता व प्रमिला नामक नर्सों को केबिन में बुलाया।

कुर्सी पर बिठाकर बात करते हुए उसने सुनीता को बांध दिया। पहले तो एसिड व फिनायल दिखाकर उसे डराया और फिर सुई से उसके शरीर को गोदा, इसके बाद आपरेशन के छुरे को गले पर रखकर हिंसित किया।

सुनीता को हिंसित करते हुए वह लगातार प्रश्न किये जा रही थी कि क्या उसके उनके पति के साथ अवैध संबंध है। साथ ही यह भी कहे जा रही थी कि अगर संबंध है तो तुरंत उनके पति के जीवन से दूर चली जाए।

महिला डॉक्टर यह सब कहते हुए लगातार सुनीता के शरीर को सुई व छुरे से घाव देते जा रही थी। यह सब कुछ घंटों तक चलता रहा और वहां खड़ी नर्स प्रमिला व अंडाल इतनी डर गई कि यह सब एकटक देखती रह गई।

इसे भी पढ़ें :

कब्र से गायब हुई एक और लड़की की लाश, जांच में जुटी पुलिस

रेप में नाकाम आरोपी ने लड़की को जलाया जिंदा, शिकायत के बावजूद पुलिस ने नहीं की थी कार्रवाई

लगभग छ: घंटे बाद सुनीता साथ में काम करने वाली अन्य नर्सों की मदद से वहां से भागने में कामयाब हुई और सीधे पुलिस स्टेशन पहुंची और वहां जाकर शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने पीड़ित की शिकायत पर केस दर्ज करके जांच शुरू कर दी है।