हैदराबाद : वेटरनरी डॉक्टर 'जस्टिस फॉर दिशा' की रेप और हत्या की मामले में अनेक तथ्य सामने आ रहे हैं। साइबराबाद पुलिस देश भर में सनसनी फैला चुकी इस मामले की जांच तेज कर दी है। इसी के अंतर्गत पुलिस की सात टीमें सबूत इकट्ठा करने में जुट गई है।

अब तक दिशा मामले में सबसे मुख्य उसका मोबाइल रहा है। जो घटना के बाद से गायब है। पता चला है कि आरोपियों ने घटना के बाद दिशा के मोबाइल को दफना दिया था। पुलिस को मोबाइल का पता चल चुका है। मगर आधिकारिक रूप से इसकी पुष्टि नहीं हुई है। इसके चलते पुलिस एक बार फिर सबूत जुटाने के लिए घटनास्थल पहुंच गई है। यह भी पता चला है कि दिशा का मोबाइल मिल जाने के चलते अब सके कॉल लिस्ट और कॉल रिकॉर्ड को खंगाल कर रही है।

आपको बता दें कि कोर्ट ने दिशा के आरोपियों को सात दिन की पुलिस कस्टडी दी है। इसके चलते डीसीपी प्रकाश रेड्डी के नेतृत्व में गठित पुलिस की टीम मोहम्मद आरिफ, नवीन, शिवा और चेन्नाकेशवुलु को हिरासत में लेकर गुप्त जगह पूछताछ कर रही है।

इसे भी पढ़ें :

दरिंदों का केस लड़ने के लिए राजी नहीं कोई वकील, शादनगर कोर्ट में आज फिर होगी सुनवाई

दिशा केस: मामले की तह तक पहुंचने की कोशिश में पुलिस, होंगे कई खुलासे

इसी क्रम में पुलिस की एक टीम फोरेन्सिक, एक टीम डीएनए, एक टीम लीगल प्रोसीडिंग्स की देख रेख कर रही है। साथ ही एक अन्य टीम प्रत्यक्ष साक्षों के पूछताछ कर रही है ।