नई दिल्ली : दिल्ली के रोहिणी सेक्टर-13 इलाके में बुधवार सुबह एक कार में दो शव पाए गए। ये शव डॉक्टर ओमप्रकाश कुकरेजा व सुदीप्ता मुखर्जी के थे। पुलिस ने बताया कि डॉ. कुकरेजा ने पहले महिला को गोली मारी फिर खुद को गोली मारी है।

डॉक्टर ओमप्रकाश कुकरेजा का रोहिणी में अस्पताल है। सुदीप्ता मुखर्जी अस्पताल की निदेशक थीं। आज सुबह दोनों रोहिणी सेक्टर 13 में रंग रसायन अपार्टमेंट के नजदीक कार में मृत मिले। दोनों को गोली लगी हुई है। पुलिस ने बताया कि डॉक्टर ने महिला को गोली मारने के बाद खुद को गोली मारकर खुदकुशी की है।

रोहिणी के डीसीपी एसडी मिश्रा ने कहा, "डॉक्टर कुकरेजा का सुदीप्ता से कई सालों से प्रेम संबंध चल रहा था। सुदीप्ता अब शादी करने का दवाब डालने लगी थीं। डॉक्टर ने अपनी लाइसेंसी रिवॉल्वर से सुदीप्ता के सीने पर गोली मारकर खुद को भी गोली मार ली।"

यह भी पढ़ें :

नौ साल की मासूम के साथ पहले किया रेप, फिर दरिंदे ने कर दी बेरहमी से हत्या

बिहार में हैदराबाद जैसी हैवानियत, लड़की से रेप के बाद पेट्रोल छिड़ककर लगा दी आग

पुलिस ने बताया कि डॉ. कुकरेजा का बेटा देहरादून में डॉक्टर है और वहां उनका एक अस्पताल है। डॉ. कुकरेजा ने खुदकुशी की है या इसे खुदकुशी में तब्दील करने की कोशिश की गई है, यह तो जांच का विषय है। फिलहाल डॉ. कुकरेजा व मुखर्जी के शव पोस्टमार्टम के लिए रोहिणी के बाबासाहेब आंबेडकर अस्पताल भेज दिए गए हैं। दिल्ली पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी है।

-आईएएनएस