गाजियाबाद : गाजियाबाद के सनसनीखेज हत्या-आत्महत्या कांड में पुलिस ने कारोबारी गुलशन वासुदेव के साढ़ू को आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में गिरफ्तार किया है। अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी।

पुलिस के एक अधिकारी ने बुधवार को बताया कि पुलिस जब कारोबारी गुलशन वासुदेव के मकान में घुसी तो उसे वासुदेव के बेटे और बेटी की लाश के साथ ही दीवार पर लिखा एक सुसाइड नोट मिला। दीवार पर लिखे संदेश में वासुदेव ने अपनी अंतिम इच्छा जाहिर की है कि उसके परिवार के सभी पांच सदस्यों का अंतिम संस्कार एक साथ किया जाए।

दीवार पर लिखा सुसाइड नोट
दीवार पर लिखा सुसाइड नोट

इंदिरापुरम में मंगलवार तड़के अपनी पत्नी प्रवीण और प्रबंधक संजना के साथ अपने अपार्टमेंट की आठवीं मंजिल से कूद कर आत्महत्या करने वाले वासुदेव ने अंतिम संस्कार पर आने वाले खर्च के लिए दीवार पर कुछ नोट भी चिपकाए जो कुल मिलाकर 10,000 रुपये हैं। इसके साथ ही उसने अपने साढ़ू राकेश वर्मा की तरफ से दिए गए बाउंस चेक भी दीवार पर चिपकाए।

वासुदेव ने वर्मा पर उसके परिवार को कर्ज में डालने और आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप लगाया था। सभी सदस्यों का एक साथ अंतिम संस्कार करने की वासुदेव की अंतिम इच्छा पर सिंह ने कहा, “यह परिवार के सदस्यों और मृतक के रिश्तेदारों पर है कि वह उनका अंतिम संस्कार कैसे करना चाहते हैं लेकिन दीवार पर चिपके मिले नोट को वासुदेव की अंतिम इच्छा के अनुसार उनको सौंप दिया जाएगा।”

इसे भी पढ़ें

पहले दो बच्चों का गला घोंटा, फिर 8वीं मंजिल से दो पत्नियों के साथ कूदा पति

आत्महत्या या किलिंग : ब्वॉयफ्रेंड के साथ मिली राजद विधायक के भतीजी की लाश

क्या है मामला

पुलिस ने बताया कि वासुदेव ने मंगलवार तड़के साढ़े तीन बजे अपने बेटे ऋतिक(14) और बेटी ऋतिका (18) की गला काट कर हत्या कर दी थी। उसने साथ ही अपने पालतू खरगोश को भी मार डाला था।

गाजियाबाद के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार सिंह ने मीडिया से कहा, “वासुदेव के साढ़ू राकेश वर्मा को आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है जबकि मामले में अन्य आरोपी उसकी मां फूला वर्मा फरार है।”

वासुदेव (45), उसकी पत्नी प्रवीण और प्रबंधक संजना ने इंदिरापुरम की कृष्णा अपरा सोसाइटी में अपने अपार्टमेंट की आठवीं मंजिल से मंगलवार तड़के खुद कर आत्महत्या कर ली थी।