मंडल प्रजा परिषद अधिकारी निलंबित, यह है आरोप

उषा किरण (फाइल फोटो) - Sakshi Samachar

हैदराबाद : रंगारेड्डी जिले के मोइनाबाद मंडल प्रजा परिषद अधिकारी उषा किरण को निलंबित किया गया। रंगारेड्डी जिले के प्रभारी जिलाधीश हरीश ने उषा किरण को निलंबित करते हुए आदेश जारी किया। उषा किरण के खिलाफ आरोप है कि पिछली बार वह जहां कार्य किया, वहां पर निधि का दुरुपयोग किया गया।

मिली जानकारी के अनुसार, मोइनबाद मंडल मंडल प्रजा परिषद के रूप में पदोन्नति से पहले उषा किरण इब्राहिमपटनम मंडल क्षेत्र के पोचारम मंडल प्रजा परिषद में सचिव के रूप में साल 2019-19 में कार्य किया। इस दौरान मंडल प्रजा परिषद क्षेत्र में लोगों से कर के रूप में वसूल किये गये 7.72 लाख रुपये को सरकारी खजाने में जमा किया जाना चाहिए। मगर उस राशि को उषा किरण खुद के काम के लिए इस्तेमाल कर लिया। घटना की जांच के बाद प्रभारी जिलाधीश हरीश ने उषा किरण को निलंबित कर दिया।

इसके अलावा मोइनाबाद मंडल मंडल प्रजा परिषद अधिकारी के रूप कार्य करने के बजाय उषा किरण ने अवैध वेंचर मालिकों को सहयोग किये जाने के आरोप भी सामने आये। बिना अनुमति वाले वेंचर को नजरअंदाज करते हुए इन वेंचरों के मालिकों से बड़े पैमाने पर रिश्वत लेने का आरोप है। इस दौरान उषा किरण ने इसके लिए वरिष्ठ अधिकारियों के नाम और पदों का भी इस्तेमाल किया।

इसे भी पढ़ें :

RGI हवाई अड्डे पर यात्री से 3300 ग्राम सोना बरामद, आरोपी गिरफ्तार

DRI ने RGIA पर सोने के 42 बिस्कुट बरामद, हिरासत में इंडिगो अधिकारी

DRI ने सोने के 40 बिस्कुट किये बरामद, इस मार्ग से लाये गये थे

पिछले तीन-चार दिनों से मोइनाबाद मंडल क्षेत्र के अवैध ले-आउटों को अधिकारी विशेष अभियान के तहत गिरा रहे है। इसी दौरान उषा किरण की भूमिका होने का पता चला है। इसके चलते अधिकारियों ने उषा किरण के पहले किये हुए पोचारम कार्यालय से जांच के आदेश दिये। जांच में निधि के दुरुपयोग का पता चला। इसके चलते उसे सेवा से निलंबित किया गया।

Advertisement
Back to Top