हैदराबाद : शादी की वेबसाइट के जरिए लड़कियों को फंसाकर उनसे पैसे ऐंठने का मामला हैदराबाद पुलिस की नजर में आया है। पुलिस ने इस करतूत को करने वाले फिजियोथेरेपी के छात्र बी. साईनाथ को गिरफ्तार किया है।

मामले की जानकारी देते हुए राचकोंडा साइबर क्राइम पुलिस के एसीपी एल. हरिनाथ ने बताया कि खम्मम जिले के कारेपल्ली के रहने वाले बी. साईनाथ ने लड़कियों को फंसाकर कर उनसे पैसे वसूलने का एक अजीबोगरीब फैसला अपनाया था। इसके लिए वह मैट्रिमोनियल साइट पर अपना फर्जी नाम और पता डालकर खुद को एक आर्थो सर्जन बताते हुए प्रोफाइल तैयार किया था। वह अपने आपको डॉक्टर अविनाश एमएस लिखा और बताया करता था।

इसके बाद उसने अपनी फर्जी प्रोफाइल को इंस्टाग्राम पर भी अपलोड कर दिया। धीरे-धीरे एक एख करके कई लड़कियां उसके संपर्क में आने लगीं। इसी दौरान उसकी मुलाकात मलेशिया में नौकरी कर रही एक युवती से हुई। इसके बाद वह युवती इसको डॉक्टर समझकर अपने फोन नंबर भी शेयर कर ली। फोन पर बातचीत का सिलसिला शुरू कर दोनों ने अपनी फोटो भी एक दूसरे से शेयर करने लगे। धीरे धीरे दोनों की दोस्ती प्रगाढ़ हो गयी ।

एक दिन साईनाथ ने उस लड़की से बहाना बनाकर पैसे मांगे और कहा कि उसका ATM ब्लॉक हो गया है और उसे किसी की मदद करनी है। इसी मदद के बहाने उस लड़की से 2 लाख 80 हजार रुपए ऑनलाइन ट्रांसफर करवा लिया।

पहले तो साईनाथ एक-दो दिन में पैसे लौटाने की बात कहता था, लेकिन बाद में वह बहाने बनाकर टालने लगा और लड़की को धमकी देने लगा कि अगर वह उसके ऊपर प्रेशर बनाएगी, तो वह उसकी फोटो को छेड़छाड़ करके अश्लील वेबसाइट पर डाल देगा। उसके साथ साथ वह उसे उसके दोस्तों और रिश्तेदारों को भी भेजेगा ताकि उसकी बदनामी हो।

इसे भी पढ़ें :

प्यार के चक्कर में युवक ने अपने ही घर में लगाई सेंध, चुराए मां के गहनें

पति की इस एक बुरी लत ने ‘लील’ ली डॉक्टर पत्नी की जिंदगी, 1 साल पहले हुई थी शादी

उस युवक की धमकियों से परेशान व युवती मलेशिया की अपनी नौकरी छोड़कर हैदराबाद आ गई और उसने हैदराबाद के साइबर अपराध थाने में शिकायत की। इस शिकायत को दर्ज करने के बाद साइबर क्राइम पुलिस ने आरोपी साईनाथ को गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस की जांच पड़ताल में पता चला है कि वह इस तरह के और भी मामले कर चुका है और कई लड़कियों को ठग चुका है। इसके लिए वह अपने दोस्त का भी इस्तेमाल करता था। पुलिस उसकी तलाश कर रही है। गिरफ्तार किए गए युवक ने बताया है कि वह वसूली गई रकम को अपनी अय्याशी पर खर्च किया करता था।