निर्मल : मामडा मंडल के पोनकल में दो प्रेमियों के सहयोग से पत्नी ने पति की हत्या कर दी। अवैध संबंध बनाये रखने में अडचनें पैदा करने की रंजिश के चलते पत्नी ने पति को मौत के घाट उतारा। पति के हत्या करनेवाले निजामाबाद के रहनेवाले होने पर हत्यारिन निर्मल जिला के मामडा मंडल में पोनकल की रहनेवाली है।

निर्मल पुलिस ने चार महीने पहले हुई इस हत्या की गुत्थी सुलझाई। निजामाबाद जिला अंकापुर के गुज्जेटी उदयकुमार की पहली पत्नी की मौत हो गई। इस पर वह आलूर की पावनी उर्फ लावण्या से दूसरी शादी कर ली। पावनी का पिछले दिनों शादी हुई थी। उसने पहले पति से तलाक ले लिया था। उसने दूसरी शादी उदय से की। उदय और पावनी ने अंकापुर में अपना दांपत्य जीवन शुरू किया। उदय कुमार मजदूरी का का काम कर रहा है और पावनी बीड़ी मजदूर है।

उदय कुमार की दूसरी शादी ने ही उसकी जान ले ली। पावनी अपने पति के साथ रहते हुये अपने पुराने आशिक दवाते दौलाजी उर्फ रमेश के साथ अवैध संबंध बनाया। दौलाजी अंकापुर में ड्राइवर है। इस दौरान पति उदय कुमार के दोस्त गंगाधर के साथ भी उसने परिचय बढा लिया। उसके साथ भी उसने अवैध संबंध बनाये। पावनी के पति को उसके अवैध संबंधों की भनक लग गई। उसने उसे समझाया। इस पर वह पति को ही रास्ते ही हटाने की योजना बनाई।

आरोपियों ने चार महीने पहले 5 जून को उदय कुमार की हत्या करने की योजना बनाई। पति को मार डालने की बात पावनी ने दौलाजी और गंगाधर को कही। इस पर दोनों ने उदय कुमार को समझाया कि जो होना था हो गया, अब रंजिश किस बात की कहकर उसे दावत के लिए कहा। उसी दिन बाइक पर निर्मल-निजामाबाद जिलों की सीमा पर गोदावरी के किनारे बसे मामडा मंडल के पोनकल गांव ले आये।

दौलाजी और गंगाधर ने शराब पी। उदय कुमार को जमकर शराब पिलाई। वहां से उन्होंने पावनी को फोन किया। उसे पूछा कि उदय कुमार को मार डाले या नहीं? उसने उसे मार डालने की बात कहने पर दोनों ने मिलकर उदय कुमार को नदी में डूबो कर मार डाला। उसके बाद फिर से पावनी को फोन किया। उस समय भी उसने उदय कुमार के मरने की पुष्टी करने को कहा।

इसे भी पढ़ें :

प्रेमी को रास्ते से हटाने के लिए प्रेमिका ने रची साजिश, पति के साथ मिलकर की हत्या

पत्नी की हत्या कर ड्यूटी पर जाता रहा पति, बेड के नीचे से मिली पत्नी की लाश

दौलाजी और गंगाधर ने उदय कुमार के शव को पानी से बाहर निकाला और उसका श्वास चल रहा है या नहीं देखा। उसकी सांस रूक गई थी। शव को गोदावरी के बहाव में डाल दिया। चार दिन के बाद 9 जून को शव पानी की सतह पर आ गया। पुलिस ने शव बरामद कर मामला दर्ज किया।

आपको बता दें कि उदय कु्मार की हत्या के बाद गंगाधर दुबई चला गया और दौलाजी अंकापुर में पावनी के साथ रहने लगा। उदय कुमार के परिवार के सदस्यों ने पावनी से पूछा तो उसने पहले कुछ नहीं कहा। इस पर उन्होंने पुलिस थाने में शिकायत की। पुलिस ने अपनी शैली में आरोपियों से पूछताछ की। आरोपियों ने हत्या के बारे में जानकारी दी। पावनी अभी गर्भवती है।