उक्कुनगरम(गाजुवाका) : विशाखा स्टील प्लांट में चोरी का सिलसिला बदस्तूर जारी है। CISF की कड़ी सुरक्षा के बावजूद चोर अलग-अलग तरीके अपनाते हुए स्टील प्लांट की संपत्ति चुरा रहे हैं।

अब तक चोर प्लांट के कंपाउंड वॉल में सेंध लगाना, दीवार के भीतर से चोरी के सामान बाहर फेंकना, बाइक टैंक के निचले हिस्से में चोरी का सामान छिपाकर ले जाया करते थे। परंतु पिछले कुछ समय से सीआईएसएफ की गहन तलाशी के कारण एक चोर ने चोरी का अनोखा तरीका अपनाया। वह तांबे की तार अपने बदन से लिपेट कर ले जाता हुआ पकड़ा गया।

ऐसे पकड़ा गया

स्टील प्लांट कोक ओवेन के पांचवी बैठरी में कॉंट्रैक्ट पर कार्यरत नडुपुरु गांव निवासी जी. मनमथराव (49) रविवार शाम 7 बजे ड्यूटी खत्म होने के बाद अपनी बाइक से जाने लगा। बीसी गेट के पास तलाशी के दौरान मनमथराव की बातों और हाव-भाव पर शक हुआ तो सुरक्षाकर्मियों ने जब उसकी गहन तलाशी ली, तो उसके बदन से लिपटी गयी करीब 6 किलो तांबे की तार बरामद हुई। इसके तुरंत बाद उसे हिरासत में लेकर स्टीलप्लांट पुलिस के हवाले कर दिया गया।

इसे भी पढ़ें :

ESI घोटाले में शामिल पद्मा ने की आत्महत्या की कोशिश, अस्पताल में भर्ती

इन शहरों में छापेमारी से 500 करोड़ रुपये के काले धन का खुलासा, ऐसे चलता है खेल

केवल तांबे की तार की चोरी करने के पीछे किसी बड़े गिरोह का हाथ होने की आशंका व्यक्त हो रही है। ऐसा लग रहा है कि किसी एक जगह केबल छिपाकर उसी से ये तार अलग करके बाहर ले जाया जा रहा है। यह चोरी कब से और इसमें कितने लोग शामिल है, इसकी जांच करने की जरूरत है। यहां के लोगों का कहना है कि स्टील प्लांट पुलिस को मामले की गहन जांच करनी चाहिए।