लखनऊ : उत्तर प्रदेश की राजधानी में शुक्रवार को हिंदू महासभा के नेता कमलेश तिवारी की हत्या के मामले में डीजीपी ओपी सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने बताया कि हत्या करने वाले सभी आरोपियों की पहचान हो गई है। आरोपी जिस मिठाई के डिब्बे में हथियार लाए थे, उससे काफी मदद मिली। हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि अभी तक इसका किसी आतंकी संगठन से कोई लिंक नहीं मिली।

डीजीपी ने बताया कि गुजरात और उत्तर प्रदेश पुलिस ने जॉइंट ऑपरेशन में 3 लोगों को हिरासत में लिया है। इनका नाम मौलाना मोहसिन शेख, फैजान और खुर्शीद अहमद हैं। ये तीनों इस हत्याकांड में शामिल रहे हैं। इनके नाम हैं, रशीद अहमद पठान, मौलाना मोहसिन शेख और फैजान। रशीद अहमद पठान 23 साल है। दो और संदिग्ध को हिरासत में लिया गया, उनसे पूछताछ की जा रही है। उन्होंने बताया कि आरोपियों में एक राशिद भी है, वह कम्प्यूटर एक्सपर्ट है, दर्जी की दुकान पर काम करता है। उसी ने हत्या की साजिश रची है।

यूपी डीजीपी ने यह भी कहा कि तिवारी की हत्या साल 2015 में में पैगंबर मुहम्मद पर की गई आपत्तिजनक टिप्पणी की वजह से की गई।

क्या है मामला

एसएसपी कलानिधि नैथानी ने कहा, “दोनों व्यक्ति तिवारी से मिलने आए थे और नाका क्षेत्र में उनके घर की पहली मंजिल पर लगभग आधे घंटे तक उनसे बातचीत की। चाय पीने के बाद दोनों ने मिलकर हमला किया। तिवारी और उस जगह को छोड़ दिया गया। उसके बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। विभिन्न पुलिस टीमों को दोषियों को पकड़ने के लिए तैनात किया गया है और दो व्यक्तियों के बारे में विवरण देखा जा रहा है। सभी बिंदुओं की जांच की जा रही है और अपराधी दोषी होंगे। जल्द ही इसे नाकाम कर दिया जाएगा। प्रारंभिक जानकारी के अनुसार, ऐसा लगता है कि दो लोग तिवारी को जानते थे। "

इसे भी पढ़ें

कमलेश तिवारी की पत्नी ने हत्या को लेकर किया खुलासा, इन दो हत्यारों का लिया नाम

लखनऊ में हिंदू महासभा के पूर्व नेता की गोली मारकर हत्या

कमलेश तिवारी मर्डर केस : पुलिस ने किया हत्याकांड सुलझाने का दावा, 3 की हुई पहचान

चाकू से 13 बार किया हमला

एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया, दो भगवा कपड़े पहने बदमाश हाथ में मिठाई का डिब्बा लेकर नेता से मिलने उनके कार्यालय आए थे। डिब्बे में रिवॉल्वर और चाकू छिपाकर लाए थे। आरोपियों ने नेता के साथ बातचीत के दौरान चाय पी और इस बीच उनपर हमला कर दिया। आरोपियों ने 13 बार चाकू से हमला किया। इसके बाद उनका गला रेत दिया। यह पूरी घटना सीसीटीवी में कैद हो गई।