मुजफ्फरपुर : बिहार के मुजफ्फरपुर में एक सांस्कृतिक कार्यक्रम में डांस के दौरान ड्यूटी पर तैनात एक सहायक अवर निरीक्षक (एएसआई) के पिस्तौल लहराने के मामले के प्रकाश में आने के बाद में पूरे मामले के जांच के आदेश दिए गए हैं। साथ ही तत्काल प्रभाव से आरोपी एएसआई को लाईन हाजिर कर दिया गया है।

पुलिस के एक अधिकारी ने बुधवार को बताया कि जैतपुर सहायक पुलिस थाना (ओपी) के जगरिया चौक के समीप दशहरा के मौके पर आर्केस्ट्रा (सांस्कृतिक कार्यक्रम) का आयोजन हुआ था। कार्यक्रम में मंच पर बार बालाएं ठुमके लगा रही थीं।

आरोप है कि एएसआई एक नृत्य के दौरान कुर्सी पर बैठे झूमने लगे और पिस्तौल लहराने लगे। पुलिस सूत्रों के मुताबिक इस घटना का किसी ने वीडियो बना लिया और सोशल साइट पर वायरल कर दिया।

वायरल वीडियो में दिख रहा है कि दारोगा कुर्सी पर बैठकर आर्केस्ट्रा देख रहे हैं और कुछ ही देर के बाद बाद गाना व नृत्य पर वे झूमने लगे और पिस्तौल लहराने लगे। वीडयो के संज्ञान में आने के बाद आरोपी सहायक पुलिस निरीक्षक को लाइन हाजिर कर दिया गया है।

यह भी पढ़ें :

पटना में केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे पर फेंकी गई स्याही, देखिए Video

दाल-भात खाते हुए लालू यादव की फोटो हुई वायरल, साथ में मौजूद थे ये MLA

मुजफ्फरपुर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) मनोज कुमार ने बताया कि प्रथम दृष्टया किसी भी पुलिस अधिकारी का यह व्यवहार गलत है। उन्होंने कहा कि पूरे मामले में सरैया के पुलिस उपाधीक्षक को जांच करने के आदेश दिए गए हैं तथा एएसआई शैलेंद्र को तत्काल प्रभाव से लाइन हाजिर कर दिया गया है। एसएसपी ने कहा कि आगे विभागीय कार्रवाई भी होगी।

नशे में धुत था पुलिस अधिकारी

लोगों का दावा है कि जिस वक्त सांस्कृतिक कार्यक्रम हो रहा था उस वक्त शैलेंद्र कुमार नशे में था और ड्यूटी करने के बजाय स्टेज के सबसे आगे वाली कुर्सी पर बैठा था।