नई दिल्ली : मध्य प्रदेश में भोपाल का हनी ट्रैप मामला अभी सुलझा भी नहीं था कि राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली और उससे सटे इलाकों में हनी ट्रैप के कई मामले सामने आ गए हैं। यहां ऐसे एक नहीं, बल्कि कई गैंग सक्रिय हैं जो अमीर लोगों को लालच देकर अपने जाल में फंसाते हैं।

बाताया जा रहा है कि ऐसे गैंग के निशाने पर व्यापारी, बिल्डर, डॉक्टर्स, आर्किटेक्ट, ज्वैलर्स, वकील रहते हैं। एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार दिल्ली-एनसीआर में ऐसे कई गैंग चल रहे हैं।

ग्राहकों को ऐसे फंसाते है गैंग

रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि ये गैंग खूबसूरत और आकर्षक विदेशी युवतियों को हायर कर उनके माध्यम से अमीर लोगों को ट्रैप करती हैं। इतना ही नहीं अपना जाल बिछाने से पहले ये गैंग अपने टारगेट की आर्थिक हालत की जानकारी करते हैं। जब उसकी माली हालत को लेकर वो पूरी तरह से संतुष्ट हो जाते हैं तो आगे का काम शुरू किया जाता है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि टारगेट से पैसा ऐंठने के लिए उनको डेबिट कार्ड की मांग की जाती है। इसके लिए एक समय और जगह निर्धारित की जाती है। उस जगह पर पीड़ित पक्ष अपना डेबिट कार्ड रख देता है, जिसके बाद में गैंग के सदस्य उससे उसका पासवर्ड जान लेते हैं। पैसा निकालने के बाद कार्ड वापस उसी जगह पर रख दिया जाता है।

इसे भी पढ़ें :

हाई-प्रोफाइल कॉलगर्ल रैकेट सरगनाओं को दिल्ली में तलाश रही उत्तराखंड पुलिस

ऐसी हैं मध्य प्रदेश में हनी ट्रैप करने वाली ब्यूटी क्वीन्स, अब तक 3 गिरफ्तार

ऐसे गैंगों में- जहांगीर गैंग, मिट्ठू गैंग, परमिंदर गैंग. रोहित गैंग, मुकेश गैंग के नाम सामने आये है। बताया जा रहा है कि जहांगीर गैंग ने दिल्ली में लगभग एक दर्जन लोगों को अपना शिकार बनाया और 2 करोड़ रुपये ऐंठे। पुलिस सूत्रों ने बताया कि इसने डॉक्टर, होटल मालिक, आर्किटेक्ट, बेकरी मालिक, एसी शोरूम के मालिक, तीन रियल स्टेट डेवलपर्स और एक ट्रेवल एजेंट को अपना निशाना बनाया था। इस तरह सभी गैंग अपना निशाना बनाते हैं।