मुंबई : एक डॉक्टर ने अपने मरीज को नशे का इंजेक्शन देकर उसके साथ रेप किया और फिर वीडियो क्लिप बनाकर उसे धमकाने लगा। यह घटना मुंबई के एक क्लिनिक की है।

मुंबई के 58 साल के एक डॉक्टर को एक मरीज का कथित रूप से बलात्कार करने और पीड़िता की एक आपत्तिजनक वीडियो क्लिप बनाकर उसे धमकाने के मामले में गिरफ्तार किया गया है। मेघवाडी पुलिस थाने के एक अधिकारी ने बताया कि जोगेश्वरी इलाके में रहने वाली 27 वर्षीय महिला डॉक्टर वंशराज द्विवेदी के संपर्क में 2015 में आई थी।

क्लीनिक में बेहोश कर किया रेप

पीड़िता ने पुलिस के पास दर्ज कराई गई शिकायत में कहा कि आरोपी डॉक्टर ने किसी बीमारी के इलाज के लिए मई 2015 में उसे एक टीका लगाया, जिसके बाद वह उसके क्लीनिक में बेहोश हो गई। अधिकारी ने बताया कि इसके बाद, डॉक्टर ने महिला के साथ कथित रूप से बलात्कार किया और जब वह घर लौटी तो पीड़िता को उसके मोबाइल फोन पर उसकी एक आपत्तिनजक वीडियो क्लिप भेजी गई जो उसने बनाई थी।

कई बार किया बलात्कार

उन्होंने बताया कि जब पीड़िता ने आरोपी से वह क्लिप मांगी तो डॉक्टर ने उसे धमकाया और कहा कि यदि वह उससे शारीरिक संबंध बनाए नहीं रखती है तो वह क्लिप को ऑनलाइन शेयर कर देगा। अधिकारी ने कहा, ‘‘इसके बाद जब क्लीनिक में कोई मरीज नहीं होता था, तब आरोपी ने कई बार उसका बलात्कार किया।''

शादी के बाद भी नहीं छोड़ा पीछे

इस बीच, महिला का पिछले साल दिसंबर में विवाह हो गया और वह उपनगर मलाड में अपने पति के घर चली गई। अधिकारी ने बताया कि हालांकि, आरोपी ने हाल में फिर पीड़िता से संपर्क किया और शारीरिक संबंध बनाने के लिए दबाव बनाने लगा। महिला ने जब इनकार कर दिया तो उसने वीडियो साझा करने की धमकी दी।

पति को भेजा आपत्तिजनक वीडियो

महिला के पति को तीन अक्टूबर को उसके फोन में एक वीडियो क्लिप भेजी गई, जिसमें महिला और एक व्यक्ति था। जब पीड़िता के पति ने उससे इस बारे में पूछताछ की तो महिला ने उसे आरोपी के बारे में बताया। अधिकारी ने बताया कि इसके बाद महिला का पति उसे मेघवाडी पुलिस थाने लेकर गया और उसने चिकित्सक के खिलाफ एक प्राथमिकी दर्ज कराई।

यह भी पढ़ें :

सबके जाने का इंतजार करती थी टीचर, स्कूल ग्राउंड में छात्र के साथ बनाती थी रिलेशन

बीच पर धागे के बराबर बिकिनी पहनकर घूम रही थी लड़की, जानिए क्या हुआ उसके साथ

शिकायत के आधार पर आरोपी को शनिवार को गिरफ्तार किया गया और प्रासंगिक धाराओं के तहत उसके खिलाफ मामला दर्ज किया गया। उन्होंने बताया कि आरोपी को रविवार को अदालत में पेश किया गया जिसने उसे 17 अक्टूबर तक के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया।