लाहौर : पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में अज्ञात व्यक्तियों द्वारा तीन नाबालिग लड़कों का कथित रूप से अपहरण किया गया और अप्राकृतिक दुष्कर्म के बाद उनकी बेरहमी से हत्या कर दी गई। इसके बाद क्षेत्र में विरोध प्रदर्शन शुरू हो गए हैं। पुलिस को लाहौर से करीब 50 किलोमीटर दूर कसूर जिले में मंगलवार को लड़कों के शव मिले। घटना को लेकर निवासी नाराज हो गए और उन्होंने चुनियां में सड़कें बाधित कर दीं और टायर जलाये।

निवासियों ने चुनियां पुलिस थाने का घेराव भी किया और पथराव किया। कुछ प्रदर्शनकारियों ने थाने को फूंकने का भी प्रयास किया। प्रदर्शनकारी तब वहां से रवाना हुए जब पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने उन्हें बताया कि करीब 12 संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है और पुलिस जल्द ही मुख्य अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लेगी।

इसे भी पढ़ें :

पाकिस्तान के सिंध में हिंदू लड़की को ऐसे मारा, सुनकर ख़ून खौल उठेगा आपका

ये हैं पाकिस्तान की सपना चौधरी, जिनके डांस ने सोशल मीडिया पर लगाई आग

नाबालिग लड़के पिछले महीने लापता हो गए थे। स्थानीय लोगों का दावा है कि नाबालिग लड़कों की अप्राकृतिक दुष्कर्म के बाद हत्या के पीछे एक गिरोह है। पंजाब के पुलिस महानिरीक्षक आरिफ नवाज खान ने संवाददाताओं से कहा कि कम से कम 12 संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है और उनके डीएनए नमूनों को जांच के लिए लाहौर की एक फोरेंसिक प्रयोगशाला भेजा गया है।

उन्होंने कहा कि मामले की जांच के लिए वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों की छह सदस्यीय टीम का गठन किया गया है। उन्होंने कहा कि यौन उत्पीड़न की पुष्टि मेडिकल रिपोर्ट के बाद होगी। उन्होंने कहा, अप्राकृतिक दुष्कर्म के बाद हत्या की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता।