नाबालिग बच्ची से यौन शोषण के मामले में राजद विधायक के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी

डिजाइन फोटो  - Sakshi Samachar

आरा : बिहार स्थित आरा की अदालत ने नाबालिग बच्ची का यौन उत्पीड़न करने के आरोप में शुक्रवार को राष्ट्रीय जनता दल (राजद) से मौजूदा विधायक अरुण यादव के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया। विशेष पॉक्सो अदालत का प्रभार देख रहे जिला एवं सत्र न्यायाधीश आरके सिंह ने जिला पुलिस के अनुरोध पर विधायक के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया।

भोजपुर के पुलिस अधीक्षक सुशील कुमार ने जिला मुख्यालय आरा में कहा, कुछ समय से विधायक का पता नहीं चल रहा है। यहां तक कि विशेष जांच टीम ने यादव को पकड़ने के लिए आरा और पटना स्थिति उनकी संपत्तियों पर छापेमारी की।

उन्होंने कहा, "हमने उनके मोबाइल फोन को सर्विलांस पर डाला है लेकिन पिछले 48 घंटे से वह बंद है। पुलिस की ओर से मुहैया कराए गए अंगरक्षक वापस बुला लिए गए हैं। हमें उम्मीद है कि गैर जमानती वारंट के बाद वह आत्मसमर्पण कर देंगे।"

विधायक अरुण यादव

इससे संबंधित खबर:

आरा की कोर्ट में बोली लड़की : रात में विधायकजी के पास भेजा जाता था

बिहार में हवस मिटाने के होता है गर्ल्स हॉस्टल्स की लड़कियों का इस्तेमाल..!

जानिए क्‍या है पूरा मामला


विदित हो कि बीते 18 जुलाई को पटना में संचालित देह व्‍यापार गिरोह के चंगुल से भागकर भोजपुर पुलिस के पास पहुंची लड़की ने एक इंजीनियर और विधायक के आवास पर भेजे जाने का खुलासा किया था। इस मामले में पकड़ी गई संचालिका अनीता देवी ने स्वीकार भी इसे किया था।

इसे भी पढ़ें :

WhatsApp पर लड़कियों की तस्वीरें भेज कर बुलाते थे ग्राहक, पकड़ी गई पति-पत्नी की करतूत

बिहार सरकार के इस फैसले से नाराज रवीना टंडन, ऐसे जाहिर किया गुस्सा

पीडि़ता का आरा कोर्ट में पहली बार बयान 20 जुलाई को दर्ज हुआ था। बीते छह सितंबर को पीड़ित लड़की द्वारा आरा कोर्ट में दोबारा बयान दर्ज कराया गया था। इसमें पीड़िता ने कहा कि पटना स्थित विधायक अरुण यादव के आवास पर उसके साथ गंदा काम किया गया। इसके बाद से विधायक की मुश्किलें बढ़ गईं हैं।

Advertisement
Back to Top