नर्स ने नाबालिग लड़की को किया बेहोश फिर टीचर ने किया रेप

कॉन्सेप्ट इमेज - Sakshi Samachar

धनबाद : झारखंड के धनबाद जिले में चौथी कक्षा की एक छात्रा से स्कूल के मेडिकल रूम में वाइस प्रिंसिपल समेत दो शिक्षकों द्वारा कथित तौर पर दुष्कर्म करने का मामला सामने आया है। पुलिस ने सोमवार को यह जानकारी दी।

पुलिस ने कहा कि तोपचांची स्थित स्कूल के दो शिक्षकों के खिलाफ कटरास थाने में एफआईआर दर्ज की गई है। छात्रा ने आरोपियों पर एक महीने पहले संस्थान के मेडिकल रूम में उससे दुष्कर्म करने का आरोप लगाया था।

धनबाद के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) किशोर कौशल ने रविवार को संवाददाताओं को बताया कि नौ वर्षीय पीड़िता की शिकायत के आधार पर प्राथमिकी दर्ज की गई है और मामला गंभीर है।

एसएसपी ने कहा, “पुलिस हर नजरिये से मामले की जांच कर रही है और चिकित्सकीय परीक्षण की रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।” पाटलिपुत्र मेडिकल कॉलेज अस्पताल के अधीक्षक डॉ. एच के सिंह ने कहा कि लड़की का चिकित्सकीय परीक्षण रविवार को पीएमसीएच में किया गया।

एसएसपी ने कहा कि पुलिस ने एक स्थानीय अदालत में धारा 164 के तहत छात्रा का बयान दर्ज किया और एफआईआर दर्ज की। विद्यालय के उप-प्रधानाचार्य समेत दो शिक्षकों और स्कूल के चिकित्सा कक्ष की नर्स के खिलाफ भारतीय दंड संहिता और पॉक्सो अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है।

यह भी पढ़ें :

आठ साल की लड़की से टॉयलेट में रेप, 6th क्लास में पढ़ता है आरोपी

बॉयफ्रेंड के कहने पर महिला ने अपनी ही बेटियों का बनाया अश्लील वीडियो, इस तरह किया शूट

एफआईआर के मुताबिक, पीड़ित छात्रा एक महीने पहले कक्षा में बेहोश हो गई थी। पुलिस ने कहा कि एक शिक्षक ने उसे चिकित्सा कक्ष में भेज दिया जहां नर्स ने उसे दवा दी जिससे वो बेसुध हो गई। उससे कथित तौर पर दुष्कर्म हुआ और इसमें उप-प्रधानाचार्य और क्लास टीचर कथित तौर पर शामिल थे। कुछ दिन बाद लड़की के परिजन तबीयत ठीक न होने पर उसे अस्पताल ले गए।

डॉक्टर ने लड़की के साथ कुछ गलत होने की आशंका जताई। पूछे जाने पर लड़की ने शुक्रवार को अपने माता-पिता को शुक्रवार को पूरा मामला बताया। पुलिस ने इस मामले में छात्रों, शिक्षकों और स्कूल प्राचार्या से पूछताछ की। प्राचार्या तनुश्री बनर्जी ने कहा कि उन्हें इस कथित घटना के बारे में जानकारी नहीं थी। उन्होंने मामले में पुलिस जांच में सहयोग की बात कही है।

Advertisement
Back to Top