हैदराबाद : साइबराबाद पुलिस कमिश्नर सज्जनार ने कहा कि क्यूनेट स्कैम में 70 लोगों को गिरफ्तार किया गया है और उनके खिलाफ 38 मामले दर्ज किए गए हैं।

मंगलवार को संवाददाताओं को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि इस केस से संबंधित बैंगलुरु में 2.7 करोड़ नगद जब्त किया गया, क्यूनेट का प्रचार करने वाले सिने अभिनेताओं को नोटिस जारी करने की बात भी उन्होंने बताई।

सज्जनार ने बताया कि क्यूनेट मल्टीलेवल मार्केटिंग के नाम पर करोड़ों रुपये का निवेश कर धोखा दे रही है, दिल्ली, महाराष्ट्र, कर्नाटक राज्यों में इसके पीड़ित हैं, जिसे इसने धोखा दिया है।

जांच में पता चला है कि जो लोग क्यूनेट से संबद्ध नहीं हैं, वे भी निवेश से प्राप्त धन का उपयोग कर रहे हैं और उन पर राष्ट्रव्यापी 5,000 करोड़ रुपये का गबन करने का आरोप लगाया गया है।

रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज ने आदेश दिया है कि मामले की गहराई से जांच की जाए क्योंकि इस कंपनी के खिलाफ कई शिकायतें दर्ज हुई हैं।

करीब 15 दिन पहले एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर ने साइबराबाद में आत्महत्या कर ली, एक अन्य व्यक्ति ने सुसाइड नोट लिखकर आत्महत्या की है।

इस क्यूनेट घोटाले में जो कथित हस्तियां हैं उन 12 लोगों को लुकआउट नोटिस दिया गया है जिससे कि वे देश से बाहर न जा सके।

साइबराबाद पुलिस कमिश्नर ने जनता से कहा है कि वे ऐसे मार्केटिंग से जुड़े धोखे से बच कर रहें क्योंकि इनका काम सिर्फ पैसे वसूल करना है, पैसे वसूलकर ये धोखा ही देते हैं।

क्यूनेट के पास किसी तरह का कोई रिकॉर्ड नहीं है, यह 100 रुपये की चीज को 1500 में बेचकर सबको धोखा देने का काम कर रही है।

इसे भी पढ़ें :

गणेश विसर्जन के लिए सुरक्षा इंतजाम पूरे, महापौर ने किया खैरताबाद गणेश पंडाल का निरीक्षण

साइबराबाद पुलिस ने इस बैंक कर्मचारियों को ठगने वाले गिरोह को गिरफ्तार किया है। आयुक्त सज्जनार ने कहा कि गिरोह से जुड़े चार लोगों अरुण, लोकेश तोमर, मोहित कुमार और मनोज कुमार को गिरफ्तार किया गया।

बड़े कार शोरूमों की आड़ में देश भर में कई लोगों को धोखा देने का आरोप इन पर लगाया गया है। इसलिए बैंक अधिकारियों को सतर्कता बरतने और उचित जानकारी के बिना धन हस्तांतरित न करने की सलाह दी जाती है।

आरोपियों के पास से तीन लाख नकद के साथ सात सेलफोन जब्त किए गए।