सागर। मध्यप्रदेश के सागर जिले के चर्चित सीमेंट व्यवसायी ब्रजेश उर्फ अजय चौरसिया सुसाइड और उनकी 16 साल की बेटी हत्या के मामले चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। पुलिस की मानें तो ब्रजेश ने ही अपनी पत्नी और बेटी को मरवाने की सुपारी बिहार के रंजन राय को दी थी। ब्रजेश ने रंजय ने राय से हथियार भी खरीदे थे और उसी के साथ ही मिलकर अपने किसी दुश्मन को मारने की प्लानिंग की रिहर्सल की थी। इस काम के लिए ब्रजेश ने उसे 90 हजार रूपए दिए थे। हालांकि रंजन को इस बात की जानकारी नहीं थी कि उसे जिसकी सुपारी मिली है वो ब्रजेश की पत्नी और बेटी हैं।

ब्रजेश की पत्नी राधा इस वारदात में बाल- बाल बच गई थी।
ब्रजेश की पत्नी राधा इस वारदात में बाल- बाल बच गई थी।

पुलिस के मुताबिक रंजन ने सबसे पहले उसकी बेटी पर हमला किया और इसके बाद ही रोड पर ट्रैफिक बढ़ गया और वह उन पर बिना हमला किए ही वहां से वापस लौट गया। थोड़ी देर बाद ब्रजेश ने कार में आकर खुद को गोली मारकर सुसाइड कर लिया।

ज्यादा नहीं तो 4 कारतूस से ही काम चल जाएगा

रंजन राय के पास जब्त मृतक ब्रजेश के मोबाइल में पुलिस को दोनों के बीच बातचीत की रिकॉर्डिंग मिली है।जिसमें प्लानिंग के साथ ही 40 कारतूस उपलब्ध कराने की बात चली है। ब्रजेश रंजन से कह रहा है कि ज्यादा कारतूस नहीं मिल पा रहे हैं तो 4 कारतूस से ही काम चल जाएगा।

पुलिस के अनुसार ब्रजेश पत्नी, बेटी और खुद की जान देने के लिए इतने कारतूस उपलब्ध कराने को कह रहा है।ग्वालियर के व्यापारी से लेन देन साहूकारों द्वारा चेक ना लौटाकर प्रताड़ित करने और उनसे अपनी जान का खतरा होने का भी जिक्र आया है। वैलेस्टिक जांच रिपोर्ट में पिता और बेटी की अलग-अलग पिस्टल से चली गोली से मौत की रिपोर्ट आने के बाद पुलिस को यह पता लगा कि वारदात में दो पिस्टल प्रयोग की गई।

इसे भी पढ़ें- कार में मिली बिजनेसमैन और 16 साल की बेटी की लाश, पत्नी ने होश में आने पर बताई ये बात

रंजन से मोबाइल और 86 हजार रूपए जब्त

रंजन 14 जुलाई से 16 जुलाई की रात ब्रजेश के ऑफिस के एक कमरे में रूका हुआ था। पुलिस ने उसे दुर्गापुर से गिरफ्तार कर लिया है। उससे मृतक का एक मोबाइल और 86 हजार रुपए पुलिस ने जब्त किए हैं।