हेलमेट से सिर पर मारा, फिर मंगलसूत्र को ही फंदा बनाकर ली महिला की जान 

कॉंसेप्ट फोटो  - Sakshi Samachar

पटानचेरु : लकडारम में हाल ही में इसी महीने की 13 तारीख को एक महिला की हत्या के बारे में पता चला था। इसी क्रम में जिस अंजिलम्मा की हत्या हुई उसकी गुमशुदगी का केस भी पुलिस स्टेशन में दर्ज हुआ।

अंजिलम्मा की बेटी ममता ने इस सिलसिले में पटानचेरु पुलिस स्टेशन में केस दर्ज किया और पुलिस ने जांच भी शुरू कर दी थी।

सीआई नरेश ने सोमवार को पटानचेरू पुलिस स्टेशन में हत्या के विवरण का इस तरह खुलासा किया।

संगारेड्डी मंडल के आरुट्ल गांव का रहने वाला रामुलु जीवनयापन के लिए हैदराबाद की गच्चीबौली में अपनी पत्नी व बच्चों के साथ रह रहा था।

इसी क्रम में कुछ दिनों पहले रामुलु की पत्नी का उससे झगड़ा हो गया तो उसने एसिड पी लिया। उसके इलाज के लिए रामुलु उसे उस्मानिया अस्पताल लेकर गया।

महबूबनगर जिले के संचर्ला गांव की रहने वाली अंजिलम्मा भी उसी समय अपनी मां को इलाज के लिए उस्मानिया अस्पताल आई थी। उसी समय रामुलु और अंजिलम्मा का परिचय हुआ। उसके बाद दोनों फोन पर बातें करने लगे।

इसी क्रम में इस महीने की 12 तारीख को रामुलु ने अंजिलम्मा को मिलने के लिए चेवेल्ला बुलाया। वहां से ये दोनों बाइक पर सवार होकर लकडारम पहुंचे। वहां शराब खरीदकर लकडारम की सुनसान जगह निंगसानीकुंटा ले गया। वहां दोनों ने शराब पी।

इसे भी पढ़ें :

कमरे में गर्लफ्रेंड की हत्या के बाद सुनिए क्या बोला हत्यारा होटल मालिक  ?

उसके बाद शारीरिक रूप से मिलने के क्रम में दोनों के बीच एक विवाद हो गया, तब रामुलु ने अपने से अंजिलम्मा के सिर पर वार किया। उसके बाद गले में पहने सोने के मंगलसूत्र को ही कसकर उसकी हत्या कर दी।

फिर रामुलु अंजिलम्मा का मंगलसूत्र और फोन लेकर वहां से भाग गया। जब पुलिस ने केस की जांच के लिए उसे पकड़ा और पूछताछ की तो उसने कबूल कर लिया कि अंजिलम्मा की हत्या उसीने की है।

दूसरी ओर पुलिस ने बताया कि रामुलु पर हैदराबाद व साइबराबाद के साथ मेदक में 10 हत्या के केस, 4 चोरी के केस दर्ज है। इस केस में रामुलु को गिरफ्तार करके पुलिस ने हिरासत में भेज दिया है।

Advertisement
Back to Top