प्रयागराज : उत्तर प्रदेश के प्रयागराज जिले में एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आया है। यहां एक पति अपनी पत्नी को शारीरिक व मानसिक यातनाएं देता था। पति की यातना से आजिज आकर पत्नी ने कानून का सहारा लिया। पत्नी ने पति के विरुद्ध अप्राकृतिक दुष्कर्म समेत कई धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया है। मामला शहर के धूमनगंज इलाके का है।

पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर मामले को गंभीरता से लेते हुए आरोपी पति को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। आरोपी पति पेशे से डॉक्टर है। जांच में पता चला है कि शादी के बाद पति महिला के घर में ही रह रहा था।

पुलिस के अनुसार, पीड़ित महिला की शादी इसी साल मार्च में हुई थी और शादी के कुछ दिन बाद से ही पति उसे शारीरिक व मानसिक यातनाएं दे रहा था। महिला अधिवक्ता भी है, हालांकि वह प्रैक्टिस नहीं कर रही थी। पति ने उसके घर से बाहर निकलने व कोर्ट जाने पर भी रोक लगा दी थी।

पुलिस के अनुसार, शहर के धूमनगंज थाना क्षेत्र की रहने वाली एक महिला ने इसी साल मार्च के महीने में डॉक्टर ओम प्रकाश से शादी की थी। हालांकि, यह मैरिज ब्यूरो के माध्यम से हुई थी और महिला के परिजन इससे नाखुश थे। शादी के बाद महिला का पति अपनी पत्नी को घर ना ले जाकर होटल में किराए का कमरा लेकर रह रहा था। कुछ दिनों के बाद पति महिला के ही घर आ गया। घर में आने के एक हफ्ते बाद ही ओम प्रकाश का बर्ताव पूरी तरह बदल गया और महिला को शारीरिक व मानसिक उत्पीड़न देना शुरू किया।

इसे भी पढ़ें :

इश्कबाजी में गुरूजी को गंवानी पड़ी जान, शादीशुदा मैडम के पति ने दौड़ाकर मारी गोली

दो साल तक रेप कर बोला फर्नीचर कारीगर- ‘कहीं और कर लो शादी, खर्चा हम दे देंगे’

पुलिस को दी गई तहरीर में महिला ने बताया है कि उसका पति डॉक्टर ओम प्रकाश लगातार उसके साथ अप्राकृतिक शारीरिक संबंध बनाने का दबाव बनाता था। इनकार करने पर मारपीट कर अपने मंसूबों को अंजाम देने का प्रयास करता था। महिला नहीं मानी तो उसके खाने में नशीली गोलियां मिलाकर उसके साथ अप्राकृतिक दुष्कर्म करने लगा।

महिला ने जब विरोध किया तो मारपीट के साथ बिजली का करंट भी उसे छुआ दिया। महिला ने पुलिस को बताया कि उसका पति न सिर्फ उसे मारने पीटने लगा था, बल्कि अप्राकृतिक शारीरिक संबंध बनाने के बाद बिजली के झटके देता और हर बात मानने के लिए धमकी देने लगा।

महिला के पति ने उसके मोबाइल भी उसने छीन लिए और उसके जेवर गहने भी अपने कब्जे में लेकर घर से हटा दिए। पति ने महिला को उसके घर में ही कैद कर दिया था। बीते 18 जुलाई को किसी तरह जब महिला के हाथ मोबाइल लगा तो उसने आपबीती अपनी एक सहेली को बताई और मदद मांगी।

फिर सहेली ने महिला के घरवालों से संपर्क किया और पुलिस की मदद से घर में कैद महिला को आजाद कराया। परिजनों ने आरोप लगाया कि मकान व संपत्ति हड़पने के लिए ही डॉक्टर ओम प्रकाश ने यह शादी की थी। फिलहाल, पुलिस ने कई धारा में मुकदमा दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।