हैदराबाद : तेलंगाना के नलगोंडा जिले में दो युवकों ने एक व्यक्ति की बीच सड़क पर गला काटकर हत्या कर दी। इसके बाद उसके सिर के साथ पुलिस थाने में जाकर आत्म समर्पण किया। यह घटना जिले के नामपल्ली मंडल में शनिवार शाम को प्रकाश में आई।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पद्मनाभ रेड्डी ने मीडिया को बताया कि रिश्तेदार में अपने भाई सद्दाम से नाराज दो युवकों ने उसकी गला काट कर हत्या कर दी। उन्होंने बताया कि हत्या करने वाले दोनों आरोपी एक महिला रजिया के रिश्तेदार हैं। इसी महिला से सद्दाम के अवैध संबंध थे। सद्दाम महिला को नौकरी दिलाने के लिए अपने साथ हैदराबाद ले आया। सरूरनगर में एक मकान में उसे काम दिलवाया।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि साल 2017 में सद्दाम की प्रताड़ना से तंग आकर रजिया ने आत्महत्या कर ली। इस संबंध में सरूरनगर पुलिस थाने में मामला भी दर्ज किया गया है। रजिया की आत्महत्या के बाद सद्दाम ने आश्वासन दिया था कि उसके दो बच्चों की देखभाल स्वयं करेगा। हत्या करने वालों का आरोप है कि सद्दाम ने दोनों बच्चों की देखभाल सही ढंग से नहीं की है।

यह भी पढ़ें :

आंध्र प्रदेश में हॉरर किलिंग : गर्भवती बेटी की परिजनों ने की हत्या

परिजनों ने नहीं सुनी बात तो प्रेमी जोड़े ने लगाया मौत को गले

इसी क्रम में शनिवार शाम को बाइक मैकेनिक मोहम्मद गौस (22) और कार ड्राइवर इरफान (26) रिश्ते के भाई सद्दाम के पास पहुंचे।उन्होंने रजिया के दोनों बच्चों की देखभाल सही ढंग से नहीं करने का आरोप लगाते हुए बहस की।

बहस के दौरान सद्दाम ने दोनों बच्चों की परिवरिश जिम्मेदारी लेने से इंकार कर दिया। यह सुनते ही गौस ने बाजू में नारियल बेचने वाले का चाकू उठाकर सद्दाम पर हमला कर दिया। इसके बाद इरफान ने भी चाकू से सद्दाम के गले पर वार किया। इस हमले में सद्दाम का सिर धड़ से अलग हो गया।

यह देख आसपास के लोग भी भयभीत हो गये। इस घटना के बाद दोनों आरोपियों ने कटे सिर के साथ पुलिस थाने में जाकर आत्मसमर्पण कर दिया। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।