इटावा : उत्तर प्रदेश के इटावा जिले में क्राइम ब्रांच और महिला पुलिस ने एक संयुक्त टीम बनाकर जब आधा दर्जन ठिकानों पर छापेमारी की तो एक अजीबोगरीब तरह से चलने वाले सेक्स रैकेट का खुलासा हुआ। इस धंधे में सपेदपोश और नौकरशाह भी जुड़े होने का मामला सामने आया है। इसे लेकर पुलिस अलग से गहनता से जांच कर रही है।

पकड़े गए सेक्स रैकेट गिरोह के सदस्य ऐसे स्थान से धंधा चला रहे थे, जहां पर लोग ज्यादा ध्यान नहीं देते थे। गिरोह में ग्राहक लाने वालों ने मुंह दिखाई से लेकर तय स्थान तक भेजने के लिए अलग-अलग रेट तय कर रखे थे। पुलिस ने 13 युवतियों व आठ युवकों को पकड़ा है, इनमें से तीन लड़कियों के नाबालिग होने की भी शंका है।

इस तरह लगाया ट्रैप

इस गिरोह को पकड़ने के लिए खुद पुलिस ग्राहक बन कर गई थी। सीओ एसएन वैभव पांडेय ने पूरी पुलिस टीम के साथ छापेमारी की थी। इटावा शहर में लंबे समय से कई जगह सेक्स रैकेट चलाए जा रहे हैं। इनमें सिविल लाइन के राहतपुरा, कांशीराम कालोनी टीबी हास्पिटल, भरथना रोड, विकास कालोनी आदि जगह शामिल हैं। पकड़े गए लोगों से पूछताछ के दौरान एक महिला ने पुलिस को बताया कि खुद उसका पति ही उसके लिए उसके लिए ग्राहक लेकर आता था। पुलिस ने आठ जगह छापा मारकर देह व्यापार कर रहे पांच गिरोह में शामिल युवतियों और युवकों को दबोचा है।

गंदे काम के लिए किराये पर थे फ्लैट

इटावा शहर में अरसे से कई जगह सेक्स रैकेट संचालित हो रहे थे। इनमें सिविल लाइन के राहतपुरा, कांशीराम कालोनी टीबी हास्पिटल, भरथना रोड, विकास कालोनी आदि जगह शामिल हैं। पुलिस ने इन्हीं जगह छापा मारकर देह व्यापार शामिल लोगों को गिरफ्तार कर लिया। इनमें कांशीराम कालोनी में कुछ ऐसे फ्लेट मिले, जो आवंटी ने किसी दूसरे व्यक्ति को किराए पर अनैतिक कार्यों के लिए दिए थे। फ्रेंड्स कॉलोनी, सिविल लाइन, सदर कोतवाली और इकदिल क्षेत्र में दबिश दी गई। पुलिस पकड़ी गई युवतियों और महिलाओं से पूछताछ कर रही है।

इसे भी पढ़ें :

पढ़ने की जगह ‘गंदे-धंधे’ में शामिल हैं दो दर्जन युवक युवतियां, अब छुपा रहे चेहरे

सूदखोर ने ब्याज के नाम पर लूटी मां-बेटी की इज्जत, वीडियो वायरल करने की देता था धमकी

आशिक को गांव वालों ने बदमाश समझकर पीटा, चिल्लाकर बोला ‘मैं आशा का प्रेमी हूं’

देह व्यापार में ऐसे उतरी युवतियां

पकड़ी गईं युवतियां साधारण परिवारों से ताल्लुक रखती हैं। ये भरथना, बकेवर, इकदिल, जसवंतनगर के साथ ही शहर की बदनाम बस्ती कोकपुरा की हैं। देह व्यापार की गंदगी में युवतियां आधुनिक जीवन शैली की चकाचौंध में महंगे शौक पूरा करने के लिए उतर गईं। आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए उन्हें ये रास्ता आसान लगा। गिरफ्त में आईं युवतियां 18 से 35 वर्ष की आयु तक की हैं।

पत्नी के लिए ग्राहक लाता था पति

छापामारी में विकास कालोनी में पकड़ी गई युवती की बात सुनकर पुलिस टीम भी अवाक रह गई। पूछताछ में सामने आया कि इस गंदे काम के लिए पति ही पत्नी के लिए ग्राहक लाता था। दंपती को गिरफ्तार करके पूछताछ की गई तो चौंकाने वाले सच सामने आए। उसने यह जगह इसलिए चुनी कि ताकि यहां किसी से संपर्क न होने से अनैतिक कृत्य की किसी को जानकारी न हो। इस युवती ने अपना मायका मैनपुरी में बताया।

ऐसे लगाते थे रेट

पुलिस टीम द्वारा पकड़े गए सेक्स रैकट न केवल सोशल मीडिया पर भी सक्रिय थे बल्कि मुंह दिखाई से ही वसूली का सिलसिला शुरू हो जाता था। पूछताछ में गिरोह के सदस्य ने सेक्स से जुड़ी वेबसाइट के बारे में भी बताया है। साथ ही मौके से उत्तेजना पैदा करने वाली दवाओं समेत कई आपत्तिजनक चीजें भी मिलीं।

पूछताछ में सामने आया कि सेक्स रैकेट के 300 से 10 हजार रुपये तक अलग अलग रेट होते थे। इसमें वाट्सअप पर चेहरा दिखाई 300 रुपये, चेहरा पंसद आने पर बुकिंग 500 रुपये, सेक्स के लिए 1500 से 2500 रुपये और तय स्थान पर भेजने के 5 हजार से 10 हजार रुपये तक लिये जाते थे।

सफेदपोश और नौकरशाहों से संबंध उजागर

कुछ युवतियों ने पूछताछ के दौरान पुलिस के सामने कई सफेदपोश और नौकरशाही से जुड़े लोगों से संबंधों को उजागर किया। गिरफ्तार युवतियां जिले के कस्बों से ताल्लुक रखती हैं। उन्होंने तय ठिकाने और बताए गए स्थान पर जाने के रेट भी बताए। कई चौंकाने वाले खुलासे से प्रतिष्ठित और सफेदपोश चेहरों की भी चिंताएं बढ़ गई हैं। एसएसपी संतोष कुमार मिश्र ने बताया कि गिरोह से संबंध रखने वालों के बारे में भी जानकारी जुटाई जा रही है।