मदरसे में मौलवी ने किया नाबालिग का यौन उत्पीड़न, पढ़ने आई बालिका पर थी बुरी नजर 

मदरसे के बाहर मौलवी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करते स्थानीय लोग  - Sakshi Samachar

विजयवाड़ा : आंध्र प्रदेश के गुंटूर जिले के दाचेपल्ली के चापलगड्डा के मदरसे में शर्मसार करने वाला वाकया सामने आया है। यहां मदरसे में पढ़ने आई नाबालिग पर मदरसे के मौलवी की बुरी नजर थी।

उसने बालिका को डरा-धमकाकर उसका यौन उत्पीड़न किया। उसके बाद जबरदस्ती उससे शादी कर ली। शुक्रवार को यह घटना प्रकाश में आई।

इस विषय की जानकारी मिलने के बाद मदरसे के बाहर मौलवियों और मुस्लिम नेताओं ने विरोध प्रदर्शन किया। स्थानीय निवासियों व मुस्लिम नेताओं का कहना है कि ..अलीम कोर्स की पढ़ाई करने के लिए विविध प्रांतों से 60 बालिकाओं ने मदरसे में प्रवेश लिया।

शेख मुफ्ति अब्दुल सत्तार यहां के मौलवी हैं और वे ही बालिकाओं को पढ़ाते भी हैं। उनकी शादी हो चुकी है और तीन बच्चे भी है।

मदरसे की एक 17 साल की बालिका पर शेख की बुरी नजर थी। उसने उस बालिका का यौन उत्पीड़न किया। गुरुवार को अन्य छात्राओं ने इन दोनों को साथ देख लिया और सबको बता दिया।

इस विषय के बारे में जब मुस्लिम मौलवियों और नेताओं को पता चला तो वे सब शुक्रवार को मदरसे में आए और अब्दुल सत्तार और उसके परिवार के सदस्यों को भला-बुरा कहा। बात आगे बढ़ने पर अब्दुल सत्तार ने कहा कि उसने पिछले सप्ताह ही बालिका से निकाह किया था।

मुस्लिम मत की धार्मिक परंपराओं के विपरीत, अल्पसंख्यक यहां तक कि नाबालिग लड़की से उसने निकाह कैसे किया इस पर सबने सवाल उठाकर हंगामा खड़ा कर दिया। तो अब्दुल सत्तार वहां से भाग खड़ा हुआ।

इस विषय पर मौलवियों और नेताओं ने अपना गुस्सा भी जाहिर किया और तुरंत अब्दुल सत्तार और उसके परिवार को मदरसा खाली करके जाने के लिए कह दिया गया। अब्दुल सत्तार का परिवार ऐसा करने के लिए राजी नहीं हुआ और दोनों गुटों में वाद-विवाद होने लगा।

स्थिति को बेकाबू होते देख पुलिस ने मोर्चा संभाला और अभिभावकों को बुलाकर अपने-अपने बच्चों को वहां से ले जाने को कहा।

इसे भी पढ़ें :

यौन उत्पीड़न के आरोपी DFO मोहन राव पर गिरी तबादले की गाज, मंत्री ने दिया आदेश

अब्दुल सत्तार के परिवार को मदरसे के बाहर निकालने के लिए मौलवियों व मुस्लिम नेताओं ने कहा। गुरजाल के डीएसपी श्री हरि, सीआई कोटेश्वरराव ने मदरसा पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया।

आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के समक्ष पीड़ित बालिका का बयान रिकॉर्ड किया गया। बालिका ने कहा कि ..अब्दुल सत्तार ने उसको डरा-धमकाकर उसका यौन उत्पीड़न किया और फिर जबरदस्ती उसके साथ निकाह भी किया।

बालिका के बयान को ध्यान में रखकर पुलिस ने अब्दुल सत्तार पर केस दर्ज कर लिया है।

Advertisement
Back to Top