अब लखनऊ के इस प्रेमी जोड़े को सताने लगा मौत का खतरा, कोर्ट में लगाई गुहार

शालिनी और आदेश - Sakshi Samachar

लखनऊ : उत्तर प्रदेश में बरेली विधायक की बेटी के बाद अब लखनऊ की बेटी का एक मामला संज्ञान में आया है। यहां बीते दिनों लखनऊ के मड़ियांव थाना क्षेत्र के अंतर्गत शालिनी सिंह अपहरण कांड मामले में एक नया मोड़ आ गया है। शालिनी सिंह के अपहरण की सूचना सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी जिसके बाद से तरह-तरह की अटकलें लगाई जा रही थी पर बाद में खबरें आई कि शालिनी सिंह अपने पति आदेश त्रिपाठी के साथ गई हुई है। इतना ही नहीं लड़की और लड़का पहले ही आर्य समाज से शादी कर चुके हैं।

इस पूरे प्रकरण के बाद लड़की अपने पति के साथ उच्च न्यायालय लखनऊ खंडपीठ में अपना बयान दर्ज कराने पहुंची। वहीं न्यायालय में बयान दर्ज होने के बाद पूरी तरह से यह बात साफ हो गई कि लड़की का किसी भी तरह से कोई अपहरण नहीं हुआ था। शालिनी सिंह ने कोर्ट को बताया कि मैं बालिग हूं और अपने पति के साथ खुश हूं और परिवार वाले मेरे ऊपर किसी भी तरह का अनावश्यक दबाव न बनाए।

क्या है मामला

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, लड़की ने न्यायालय में अपना बयान दर्ज कराते हुए अपने परिजनों पर आरोप लगाया कि वह मेरे ऊपर अनावश्यक दबाव बनाकर धमकी देने के साथ ही प्रताड़ित भी कर रहें हैं। साथ ही लड़की का आरोप है कि मेरे पति और मुझको मेरे घरवालों से जान का खतरा है और बयान दर्ज करने से पहले मेरी और मेरे पति की परिजनों से झड़प भी चुकी है।

कोर्ट में कहा मां-बाप से मेरा कोई लेना देना नहीं

माननीय कोर्ट ने 5 बार शालिनी सिंह से पूछा कि आप अपने मां बाप से मिलना चाहती हो, इसपर शालिनी सिंह ने कहा नहीं मैं आपने मां बाप से नहीं मिलना चाहती हूं । कोर्ट में बयान दर्ज होने के बाद पूरी स्थिति साफ हो गई है कि शालनी सिंह का अपहरण नहीं हुआ था। आपको यह भी बता दें कि 5 जुलाई को अजीज नगर पुलिस चौकी थाना मड़ियांव अंतर्गत शालिनी सिंह के अपहरण की सूचना सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी। जिसके बाद से तरह-तरह की अटकलें लगाई जा रही थी पर बाद में खबरें आई कि शालिनी सिंह अपने पति आदेश त्रिपाठी के साथ गई हुई है। अप्रैल माह में उन्होंने कोर्ट मैरिज और आर्य समाज मंदिर में शादी कर रखी थी।

इसे भी पढ़ें :

बरेली पुलिस बचा सकती थी गुड़िया की जान, सोते समय जेठ ने ही कर दी विधवा की हत्या

13 साल के छात्र से महिला टीचर बनाती थी संबंध, पैरेंट्स ने ऐसे दोनों को पकड़ा

अपहरण की सूचना से हलकान हुई थी पुलिस

अब जहां कोर्ट में शालिनी सिंह ने अपने बयान दर्ज कराए हैं और अपने पति आदेश त्रिपाठी के साथ रहने की बात कही है वहीं पूरे प्रकरण में खाना मडियाव पुलिस बैकफुट पर नजर आ रही है। थाना मड़ियांव पुलिस 1 हफ्ते से लड़की और लड़के के बयान नहीं दर्ज कर पाई थी। अब उस मुकदमे का क्या होगा जो शालिनी सिंह के परिवार वालों की तरफ से आदेश त्रिपाठी के ऊपर थाना मड़ियांव ने दर्ज है कोर्ट में बयान देने के बाद सालिनी सिंह अपने पति आदेश त्रिपाठी के साथ चली गई।

बता दें कि जानकीपुरम सेक्टर 6 निवासी शालिनी सिंह अपने मित्र प्रशांत गुप्ता के साथ किसी काम के लिए गोमती नगर जा रही थी तभी थाना मड़ियांव अंतर्गत अजीज नगर पुलिस चौकी के पास अचानक वह गायब हो गई थी। शालिनी सिंह के मित्र प्रशांत गुप्ता के द्वारा 100 नंबर पर सूचना दी गई कि कार सवार चार युवक शालिनी सिंह को जबरन उठा ले गए। जिससे पूरे पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया था। थोड़ी देर बाद खबरें आनी शुरू हो जाती है कि शालिनी सिंह का अपरण नहीं बल्कि वह अपने पति के साथ गई हुई है।

सेक्टर 3 निवासी आदेश त्रिपाठी और शालिनी सिंह ने अप्रैल में आर्य समाज मंदिर और कोर्ट में शादी कर रखी थी। पर सभी बातों को दरकिनार करते हुए थाना मडियाव पुलिस ने शालिनी सिंह के पिता आरपी सिंह की तहरीर पर मुकदमा पंजीकृत कर ली जबकि एक हफ्ते बीतने के बाद भी लड़की और लड़के का कोई भी सुराग नहीं लग सका।

Advertisement
Back to Top