बलरामपुर । घर बैठे हजारों रुपये कमाना चाहते है? अगर हां, तो उत्तर प्रदेश में बलरामपुर की पुलिस के पास आप के लिए प्रस्ताव है। पुलिस अधीक्षक देव रंजन वर्मा द्वारा जारी एक पैम्फलेट के अनुसार, पुलिस ने एक 'मुखबिर रोजगार योजना' शुरू की है, जिसके तहत अपराधियों और उनकी गतिविधियों के बारे में जानकारी देने वालों को पुरस्कार में रुपये दिए जाएंगे।

पुलिस पैम्फलेट में विभिन्न प्रकार की सूचनाओं के लिए इनाम राशि भी सूचीबद्ध की गई है। इसके मुताबिक, पुलिस को चोरी की कार का पता लगाने में मदद करने पर 1,000 रुपये का इनाम मिलेगा और कट्टा बरामद करने में मदद के लिए भी 1000 रुपये की राशि दी जाएगी।

बिना लाइसेंस वाली रिवॉल्वर या पिस्तौल की सूचना और बरामदगी पर 5,000 रुपये का इनाम दिया जाएगा। पैम्फलेट में कहा गया है कि व्यक्ति इस तरह की सूचना को पुलिस अधीक्षक को उनके आधिकारिक मोबाइल नंबर पर दे सकता है।

इसे भी पढ़ें :

शाबाश यूपी पुलिस! इस तरह बचाई दंपत्ति की जान

यूपी में दबंगों ने तमंचे और तलवार के दम पर नाबालिग से किया गैंगरेप

व्यक्ति की पहचान गुप्त रखी जाएगी और अगर सूचना सही पाई गई तो पुरस्कार की राशि नकद में दी जाएगी या उसके खाते में जमा की जाएगी। यह पुलिस द्वारा शुरू की जाने वाली इस तरह की पहली योजना है।

अब तक मुखबिरों को सूचना देने पर गुप्त कोष से पैसा दिया जाता है जो जिले के हर पुलिस प्रमुख के पास होता है। वर्मा ने कहा कि योजना पहले ही शुरू हो चुकी है और इसके नतीजे आ रहे हैं।

उन्होंने कहा, "हम आम लोगों तक पहुंचने की कोशिश कर रहे हैं, जिनके पास आसपास के क्षेत्र में किसी भी संदिग्ध गतिविधियों के बारे में जानकारी हो सकती है।

हम पहले ही इस योजना के माध्यम से आधा दर्जन मामलों पर काम कर चुके हैं, जो अब गांवों और जिले के ग्रामीण अंदरूनी इलाकों में लोकप्रिय हो रही है।"