हापुड़ : उत्तर प्रदेश राज्य के हापुड़ जिले से मानवता को शर्मसार कर देने वाली घटना सामने आई है, जिसको जानकर आप के होस उड़ जाएंगे। यहां एक महिला का अपहरण कर पहले छह लोगों ने जंगल में ले जाकर सामूहिक दुष्कर्म किया। उसके बाद गांव में पंचायत बैठी। पंचायत ने सजा देने के बजाय आरोपियों से एक-एक लाख रुपये पीड़िता को दिलाने फरमान सुनाकर मामले को रफा-दफा कर दिया।

यह घटना हापुड़ जिले के गढ़मुक्तेश्वर क्षेत्र की है। फिलहाल पुलिस ने दो नामजद सहित छह लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। वहीं पीड़िता का मेडिकल भी कराया।

बताया जा रहा है कि गढ़मुक्तेश्वर की रहने वाली युवती की शादी दिल्ली में हुई है और उसका पति दिल्ली में ही काम करता है। लेकिन किन्हीं वजहों से युवती अपने चारों बच्चों को साथ लेकर कई साल से पैतृक गांव में ही रहती है। उसके परिजनों का आरोप है कि शनिवार रात नशे में धुत होकर गांव के 6 दबंगों ने महिला को जबरन कार में डालकर जंगल में ले गए जहां उन्होंने कई घंटों तक उसके साथ सामूहिक रेप किया।

तड़के घर लौटी महिला ने परिजनों ने आपबीती बताई। जिसके बाद गांव में पंचायत बुलाई गई। पंचायत में आरोपियों के परिजनों को भी बुलाया गया। दोनों पक्षों को सुनने के बाद पंचायत ने गांव को बदनामी से बचाने का हवाला देकर आरोपियों को एक-एक लाख की रकम पीड़िता को देने का फरमान सुनाते हुए मामले को रफादफा कर दिया। इस पर पीड़िता के परिजनों ने आरोपियों के खिलाफ थाने में तहरीर दे दी।

इसे भी पढ़ें :

भतीजी से रेप कर रहा था अखिलेश, ताऊ ने देखा तो नंगे बदन दौड़ने लगा आरोपी

युवती के परिजनों की तहरीर पर रविवार की रात को ही दो नामजद समेत 6 युवकों के खिलाफ अपहरण का केस दर्ज कर लिया है। आरोपियों को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

एसपी डा. यशवीर सिंह का कहना है कि सामूहिक दुष्कर्म के आरोपों की जांच के लिए पीड़िता का मेडिकल करा दिया गया है तथा 164 के बयान की कार्रवाई के बाद जो आरोपी प्रकाश में आएगा, उसके खिलाफ सख्त कार्यवाई होगी।