पति चाहता पत्नी करा ले अबॉर्शन, बेटे को जन्म देकर लेडी अफसर ने दी जान  

ज्योति एक इंश्योरेंस कंपनी में प्रशानिक अफसर के पद पर थी। - Sakshi Samachar

पटना। बिहार के पटना में एक बेहद ही दर्दभरी घटना सामने आई है। यहां की एक महिला अफसर ने अपनी शादी के 19 महीने बाद ही अपनी जान दे दी। महिला इश्योरेंस कंपनी में प्राशनिक अफसर के रूप में तैनात थी। शुरूआती जांच में जो वजह निकलकर साने आई है वो यह है कि महिला का पति अभी बच्चा नहीं चाहता था। वह चाहता था कि उसकी पत्नी ज्योति बाला अबॉर्शन करा लें, लेकिन महिला अफसर अपने पति के इस फैसले के खिलाफ थी। वह बच्चे को जन्म देना चाहती थी।

पत्नी की हरकतों से ज्योति तंग आ चुकी थी।

पति और ससुराल वालों के टॉर्चर से आ चुकी थी तंग

पति के टॉर्चर से वह तंग आ चुकी थी। इसलिए पटना छोड़कर मुंबई आकर बच्चे को जन्म दिया इसके बाद उसने खुद को मौत के हवाले कर दिया। मरने से पहले महिला अफसर ने एक सुसाइड नोट भी लिखा है। इस सुसाइड नोट में उसने अपने पति और उसके परिवारवालों को अपनी मौत का जिम्मेदार बताया है। सुसाइड नोट में ज्योति ने अपने अबोध बच्चे के लिए न्याय की गुहार भी लगाई है घटना के बाद से महिला का पति और उसके परिवार वाले फरार हो चुके हैं। सुसाइड नोट के आधार पर महाराष्ट्र पुलिस ने ज्योति के पति विमल वर्मा, ससुर विजय वर्मा, सास मीरा शरण व अन्य लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

नवंबर 2017 में हुई थी शादी

महिला अफसर पटना की रहने वाली थी। उसकी शादी नवंबर 2017 में सालिमपुर अहरा के रहने वाले विमल वर्मा से हुई थी। ज्योति बाला द न्यू इंडिया इंश्योरेंस कंपनी में प्रशासनिक अफसर की पोस्ट पर तैनात थी। ज्योति का आरोपी पति विमल, बैंक ऑफ बड़ौदा में बतौर मैनेजर यूपी के सुल्तानपुर में काम करता है। 9 जून को महाराष्ट्र के बसई में ज्योति ने अपनी बहन के घर फांसी लगा ली।

इसे भी पढ़ें बहू ने बल्ब निकाले तो ससुर ने गला रेत किया मर्डर, मुश्किल से मिलने आता था पति

विमल और ज्योति ( सौजन्य फेसबुक)

पत्नी से बात तक नहीं करता था उसका पति

ज्योति के घरवालों की मानें तो शादी के कुछ दिन बाद उनकी बेटी के ससुराल वाले उसको टॉर्चर करने लगे थे। झगड़े की वजह से नौबत यहां तक आ गई थी उसका पति विमल उससे बात तक नहीं करता था। ज्योति के प्रेग्नेंट होने पर पति उस पर अबॉर्शन कराने के लिए दबाव बना रहा था, लेकिन उसने अपने मायके जाकर तीन महीने पहले ही एक बेटे को जन्म दिया था। इसके बाद ज्योति ने खुदकुशी कर ली।

Advertisement
Back to Top